2014 के बाद भारत से बोरिया-बिस्तर समेट जा चुकी हैं करीब 2,800 विदेशी कंपनियां

वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने बीते दिनों ही संसद सत्र में इस बात की जानकारी दी है कि साल 2014 के बाद से ही अब तक करीब 2800 वि’दे’शी क’म्प’नियां भारत से अपना का’रोबा’र को समेत चुकी है। उन्होंने बताया है कि अभी

भारत मे करीब 12,500 वि’देशी क’म्प’नियां सब्सिडी के माध्यम से काम कर रही है। मंत्री गोयल ने एक लि’खित सवाल का जवाब देते हुए बताया कि पिछले सात साल के दौरान 2,783 विदे’शी कम्प’नियों ने भारत में अपने काम’का’ज को बं’द किया है।

2,783 foreign companies shut India operations since 2014

यह कम्पनियों सम्पर्क ऑफिस, ब्रांच ऑफिस, प्रोजेक्ट ऑफिस या फिर सब्सि’डी के मा’ध्यम से र’जिस्ट’र्ड थी। इन्होंने कारो’बारी ल’क्ष्य या परि’योजना को पूरा करने के लिएपरेन्ट कम्पनी के रिस्ट्र क्चरिंग विलय और मैनजमेंट के किसी अन्य निर्ण’यों के का’रण यहां काम का’ज बं’द किया।

गोयल ने बतौया है कि इस दौरान 10,756 विदे’शी कम्प;नियां के भारत मे अपने का’रोबार को शुरू किया है। उस कम्पनियों के रजि’स्ट्रेशन के बाद अब भारत में 12,458 विदेशी कम्पिय एक्टिव है। पीयूष गोयल मंत्री ने बताया है कि यह आकड़ा 30 नवंबर 2021 तक का है।

2,783 foreign companies shut India operations since 2014

इसके साथ ही उन्होंने इस बात से भी मुखा’ति’ब होक र बताया कि भारत देश इज्र ऑफ डूइंग बिज’नेस रेंकिं’ग में अभी 63वे पा’यदान पर है। भार’त की स्थि’ति में साल 2014 से 2019 के दौरान 79 पा’यदान का सु’धार हुआ है। हालां’कि इतना अ’भी पर्या’प्त भी न’ही है।

Leave a Comment

close