एर्दोगन ने जारी किया “ग्रेटर तुर्की” का नया नक्शा, सलजूक सल्तनत दवारा 1071 तक जीते गए सभी हिस्सों को बताया तुर्की का हिस्सा

लगातार तुर्की के राष्ट्रपति हर दिन सुर्खिया बतौर रहे है । हगि’या सोफि’या म्यूजि’यम को म’स्जि’द में बदलने, उंसके बाद एक ओर उ’स्मा’नि’या स’ल्त’नत की मस्जि’द को दुबारा न’मा’ज पढ़ने के लिए खोलने ,इसके बाद ‘भू’म’ध्य’सागर में तेल का बड़ा भंडार ख़ौजने के बाद, तुर्की के राष्ट्रपति अब साइ’प्रस और क्री’ट द्विप में तेल और गैस भंडार खो’जने में लगे हुए। जिससे तु’र्की और ग्री’स के रि’श्ते ख’राब हो रहे है।

ग्रीस के साथ फ्रां’स, UAE जैसे मजबूत देश खड़े है तो वही तुर्की अकेला ही इन तीनो देशों के सामने अदम्य साह’स का परिचय दे रहा है । तुर्की की नजरें अब ख़ि’लाफ़ते उ’स्मानि’या वाले दौर में चल रही है। तु’र्की अब देश की भीतर बड़े बदलाव करने के साथ ही कई तरह की योज’नाओं को भौगि’लि’क सी’मा’ओं के वि’स्ता’र की कोशिश में लगा हुआ है।

Turkey Erdogan’s Ottoman

स’त्ता’धा’री ज’स्टि’स ड’व’ल’पमेंट पार्टी के सांसद मिती’न ग्लोनक ने ग्रेटर तुर्की के नक्शा जारी किया है। जो तुर्की के लाल ध्वज से ठका हुआ है।यह नक्शा उस समय जारी किया गया है जब तेल और गैस के मुद्दे पर ग्रीस और तुर्की के बीच हालात ख’राब हो रहै है। दूसरी और सी’रिया के इ’बदि’ल इला’के में तुर्की की सेना’एं तैनात है।

तुर्की सांसद ने जो नक्शा जारी किया है उसमें उत्तरी यूनान का बड़ा भाग,एजियन सागर के कई द्विप, बुल्गा’रिया,सा’इप्रस और आर्मे’निया का आधा भाग, जर्जिया इरा’क और इसके अलावा सी’रिया के बड़ा भाग शामिल है।तुरके सांसद ने इस नक्शा को ट्विटर हैंडल पर ही जारी नही किया बल्कि 1071 में होने वाले यु’द्घ में तुर्क वि’जय का भी गुणगान किया है।

Turkey Erdogan’s Ottoman

तुर्की संसद का कहना है कि एर्दोगा’न के नेतृत्व में जस्टि’स एंड डेवल’पमेंट पार्टी के भीतर ही वह ज’ज्बा है जिसने यह नक्शे को जारी किया है।इसके जवाब में यूना’नी यूजर्स ने पीले रंग का नक्शे को जारी भी किया है जो ग्रेटर उनका नक्शा है ।

‘तु’र्की ने हगि’या सो’फिया के फैसले के आने के बाद कई कदम उठाए है। तुर्कि स’रकार ने मस्जि’दे अल अक़्सा को लेकर भी कदम उठाया था।तु’र्की ने काले सागर में अपना प्राकृतिक गैस भंडार खोजा है।

Turkey Erdogan’s Ottoman

इसके बाद भूमध्य’सागर में गैस की तेल की ‘के बाद ग्रीस और तुर्की आमने सामने भी हुए है । तुर्की और ग्रीस दोनो ही नाटो सदस्य है। इसके अलावा तु’र्की ने S400 मिसा’इल सिस्टम की दूसरी प्रणाली को रूस से ले लिया है।

Leave a Comment