शादियों में दहेज लेने, डीजे बजाने वालों की अब खैर नहीं, मौलाना ने कहा – अल्लाह के रसूल (स.अ.व.) ने ….

सुन्नी बरे’लवी मस’लक की सबसे बड़ी दरगाह में से एक आला ह’जरत से मु’स्लिम शादियो में बें’ड बा’जा, डी’जे,आति’श’बाजी को लेकर एक ब’ड़ा फै’सला लिया गया है। दर’गाह के सज्जादानशीन मुफ़्ती अहसन रजा खा कादरी उर्फ अहसन मिया ने देश के तमाम

सुन्नी बरेल’वी मस’लक के जुड़े मौलवी, काजी से कहा है कि जिस शादी में बें’ड बा’जा, डी’जे और आ’तिशबा’जी हो वहां पर निका’ह न पढ़ाए। अह’सन मिया ने कहा है कि’ शा’दियो में आज कल फिजू’ल ख’र्चो का बढ़ाया जा रहा है।

aala hazrat dargah news

बें’ड बा’जा, आतिश’बाजी, डी’जे और दहे’ज की मां’ग को बढ़ा’वा दिया जा रहा है। इस तरह के रिवा’ज आम हो रहे है। लड़’की वालों से द’हेज की मां’ग की जा रही है। जिसको किस भी सूर’त में स’ही न’ही ठ’हराया जा सकता है । इस तरह उ’लेमा ने द’हेज की रो’क ल’गाने की भी मां’ग की है।

सज्जा’दानशीन ने कहा है कि दहे’ज की मां’ग का हाल ही में एक उदाहर’ण सामने आया है। गुज’रात की आय’शा के साथ भी हुआ है। दहे’ज की बिना पर गरीब लडकि’या घ’रों पर बै’ठी हुई है। अ’ल्लाह के रसू’ल’ ने निका’ह को आसन करने का हुक्म दिया है। डीजे,डो’ल , आतिश’बाजी इ’स्लाम मे नाजा’यज औऱ हरा’म है।

dahej islam

दर’गाह आ’ला हज’रत के मीडि’या प्र’भारी ना’सिर कुरे’शी का कहना है कि सज्जा’दा’नशीन की अपील को देशभर के उले’माओं, मौल’वियों तक पहुँचा’या जारहा है।उलेमा, का’जी और मौ’लवी देश भर में स’ज्जादा’नशीन का पैगाम उर्स की मह’फ़िल, ज’लसों और जु’मे की नमा’ज में आम लोगो तक भी पहुँ’चाए।

Leave a Comment