हर तरह से ठोकर खाने के बाद आसिफ ने लगा लिया बिरयानी का ठेला, आज है करोड़ो का रेस्टोरेंट के मालिक

हम में से बहुत से लोग सिर्फ इसलिए आगे की पढ़ाई जारी नही रख पाते है क्योंकि उनके घर की म’जबू’रियां उनके आगे बाधा बनकर भी खड़ी हो जाती है। भले ही उनके अंदर।प’ढ़ाई को लेकर कितनी भी लग्न और परि’श्रम करने की क्षमता क्यो न हो। लेकिन बहुत से लोग इन मजबूरियों के बाद भी

अपना रास्ता बना ही लेते है और उन्हें जिंदगी का असली सिकन्दर कहा जाता है।आज की कहानी भी एक ऐसे शख्स की है। उस शख्स को बचपन से ही आर्थिक तंगी के चलते हुए पैसा कमाने के लिए घर सेबाहर निकलना पड़ा। ताकि घर के हालातों को संभाला जा सके। लेकिन घर सम्भालने के चक्कर मेउसको जिंदगी कई बार डगम’गा भी गई।

aasif ahmad aasife biriyani

 

लेकिन उन्होंने हार नही मानी। उस शख्स का नाम आसिफ अहमद है। यह चेन्नई के पल्लवरम में रहते है। उन्हीने महज 12 साल की उम्र से ही काम करना पड़ा। इस उम्र में उन्होंने शुरुआत में अखबार बेचने के साथ साथ ही किताबे बेचकर कुछ पैसे भी कमाएं।

उसके बाद आसिफ ने चमड़े के जूते का कारोबार भी शुरू किया।इसके बाद aasif ahmad aasife biriyaniउन्हीने बिरयानी का ठेला भी लगाया। उनकी बिरयानी को लोगो कब काफी ज्यादा पसंद भी किया। लिहाज तीन से चार महीनों के बीच उनकी बिक्री रोजाना 10से 15 किलो हो गई।

aasif ahmad aasife biriyani

उनके घर मे मतभेद होने के बाद उन्होमे दो रेस्टोरेंट अपनी माँ के नाम और दो रेस्टोरेंट अपने भाई के नाम किए। जिस ठेले की शुरुआत आसिफ ने कभी हर जगह ढोकर खकर की थी। आज उसी आसिफ बिरयानी के नाम 40 करोड़ का कारोबार भी पार हो चुका है ।

Leave a Comment