अब देश में एक भी गाड़ी नही होगी चो’री , सरकार ला रही ये खास़ टे’क्नोलॉजी

कई राज्यों में हाई सि’क्यो’रिटी नंबर प्ले’ट लागू हो चुका है। लेकिन इसके बा’वजूद भी देश में वाहन चो”री के मामले में क’मी नहीं आ रही है। देश में वाहन चो’री के मा मले में लगातार बढ़ो तरी हो रही है। सरकार अब एक ऐसी नई टे’क्नोलॉजी ला रही हो , जिस से अब वाहन चो’री पर रो’क लग सकती है। बता दे , इस टे’क्नोलॉजी की कीमत मात्र 1 हजार रुपये के आसपास बताई जा रही है। सरकार ने वाहन चो’री की घटनाओं पर रो’क लगाने के लिए MicroDot नामक टे’क्नोलॉजी को लागू करने की मंजूदी दी है। इस मा’इक्रो डॉ ट्स का इस्तेमाल अब देश के वा’हनों में किया जा सक ता है

इस टे’क्नोलॉजी के तहत यूनिक नंबर और व्हीकल आइ’डेंटिफिकेशन नंबर वाले ले  जर बेस्ट हजारों को इक्ट्ठा किया जाएगा और इन छोटे छोटे मा’इक्रोडॉट्स की स हा यता से कार की पूरी बॉ डी पर इसका स्प्रे किया जाएगा। इंजन पर इन मा’इ क्र को ‘डॉ ट का स्प्रे भी किया जा सकता है। इन मा’इक्रो’डोट्स का साइज 0.5 एमएम तक हो गा। इस स्प्रे की खासियत यह है कि इन मा’इक्रो ‘डो ट्स को हटाना लगभग नामु मकिन है। इन डॉट्स को अ’ल्ट्रा’वॉयलेट ला’ईट के जरिये ही देखा जा सकता है। इस टे’क्नोलॉजी की सहायता से कार को चो’री करना लगभग असंभव होगा। अमे रि का दक्षिण अफ्रीका जैसे देश इस टे’क्नोलॉजी का इस्तेमाल तक रहे है।

इस टे’क्नोलॉजी की मदद से कार की चो’री करने वाले चो’र को चुटकियों में पता ल गाया जा सकता हैं। इस टे’क्नोलॉजी की खासियत यह है कि अगर कार के पुर्जे पुर्जे भी अलग कर दिया तब भी कार की सभी जानकारी पता लगाया जा सकता है। माइ क्रो डॉट्स टेक्नोलॉजी का देश में लागु करने के लिए कई देशों से बात चीत चल रही है। अब सरकार की हरी झंडी का इन्तजा़र है। रिपोट्स के अनुसार देश में मौजूद ऑ टोमो’बाईल टे’क्निकल स्टैं’डर्ड्स की रिपोट् देने वाली संस्था CMVR-TSC ने इस टे क्नोलॉजी से सम्बधित बैठक की है।

उम्मीद है जल्द ही इस टेक्नोलॉजी को पूरे देश में लागु किया जा सकता हैं। सरकार ने इसकी कीमत की भी मंजूरी दे दी है। इसकी कीमत 1 हजार रुपये के आसपास ब ताई जा रही है। जान कारी के मु’ताबिक चार पहिया वा’हनों के लिए 10 हजार मा’इ क्रो डॉ ट्स एर दुपहिया वाहन के लिए 50 हजार मा’इक्रो’डोट्स की ज’रुरत होगी। इ स की लाइफ’साइकिल तकरीबन 15 सालों तक होगी। 2016 के एक आंकड़े के मुता बिक 2.14 लाख वा’हन हर साल चो’री होते है। दि’ल्ली में अकेले 40 हजार वाह नों की चो’री होती है। यूपी में ये आंकड़ा 35 हजार , महाराष्ट्र में 22 हजार वाहन चो’री होती है।

Leave a Comment

close