दर्शकों की डिमांड पर छक्के लगाता है ये मुस्लिम युवा, भारत को मिल गया दूसरा सलीम दुर्रानी

अपने जमाने मे सलीम दुर्रानी भारत के सबसे अच्छे ऑलराउंडर माने जाते थे। लेकिन दुर्रानी इसलिए मशहूर थे क्योकि वो दर्शको की मांग पर छक्का लगाया करते थे। इंडियन प्रीमियम लीग में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से खेलने वाले

अब्दुल समद को भी भी टीम इंडिया का दूसरा सलीम दुर्रानी माना जाता है। समद ने रणजी ट्रॉफी में बीते दिनों ही धमाकेदार शतक लगाया है। उन्होंने जम्मू कश्मीर की और खेलते हुए पुडुचेरी के खि’लाफ 68 गेंदो पर ही शतक जड़ दिया।

यह रणजी इतिहास का दूसरा सबसे तेज शतक है। उनकी ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करने के बावजूद अमर रणजी ने ऋषभ पंत का रिकॉर्ड तोड़ने से चूक गए।भारत के स्टार विकेट कीपर बलेलबज पंत के नाम रणजी इतिहास के सबसे तेज शतक लगाने वाले का रिकार्ड भी दर्ज है।

पंत ने साल 2016 में झारखंड के खिलाफ 48 गेंदो पर अर्धशतक लगाया था।उन्होंने दिल्ली की और खेलते हुए 67 गेंदो पर 135 रनों की पारी खेली थी।समद ने 78 गेंद की अपनी पारी में 103 रन बनाए।

उन्होंने 19 चोक और दो छक्के भी लगाए। समद का स्ट्राइक रेत 132.05 का रहा है। उबके अलावा टीम के लिए कामरान ने 96, जतिन ने 69, शुभमन ने 51,आबिद मुश्ताकने 40 और परवेज रसूल ने 31 रन बनाए।

Leave a Comment

close