दिलीप कुमार का असली नाम : मोहम्मद युसूफ खान को कैसे मिली दिलीप कुमार स्क्रीन नेम, जानिए कैसे दुनिया में छा गए खान

फ़िल्म इंडस्ट्री में ट्रेजडी किंग के नाम से पुकारने वाले अभिनेता दिलीप कुमार के स्क्रीन नेम की कहानी बहुत ही ज्यादा दिलचस्प है। मोहम्मद यूसुफ खान से दिलीप कुमार बनने की पूरी कहानी अभिनेता ने अपनी जीवनी में भी लिखी है।आज बॉलीवुड के सबसे दिग्गज हस्ती ने दुनिया को अ’लविदा कह दिया है। सुबह 7:30 बजे ही दिलीप कुमार का मुम्बई के अ’स्प’ताल में नि’धन हो गया है।

बता दे कि दिलीप कुमार को इंडस्ट्री में कई नमो से पुकारा भी जाने लगा था। इनमे ट्रेजडी किंग, देश के पहले मेथड एक्टर जैसे नाम भी शामिल है। इन उपाधियों सहित ही उनका नाम दिलीप कुमार रहा है। लेकिन उनका असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान था। फिल्मो में आने के बाद उनका नाम मोहम्मद यूसुफ खान से दिलीप कुमार रखा गया था।

actor dilip kumar life struggle story

बता दे कि फिल्मो में आने से पहले dilip kumar मुम्बई में अपने पिता के साथ फलों के कारोबार में हाथ बटाते थे। एक दिन उनके पिता ने किसी बात को लेकर उनका म’नमुटाव भी हो गया। वो मुम्बई से पुणे भी आ गए। यहां पर ब्रिटिश आर्मी केंटीन में सहायक की नोकरी करने भी लगे। यहां वो उन्होंने सैंडविच

का काम भी शुरू किया। जो बहुत आगे भी निकल गया। लेकिन एक दिन इस केंटीन में आ’जादी के समर्थन के चलते हुए उन्हें गि’रफ्ता’र भी कर लिया गया। फ़िर वो वहां से मुम्बई वापस भी आ गए। उनकी पहचान साइक्लोजिकल डॉ मसानी से भी हुई।

actor dilip kumar life struggle story

डॉ मसानी बॉम्बे टॉकीज की मालकिन देविका रानी से मिलने भी जा रहे थे। उन्हीने साथ मे उनको भी ले लिया। देविका रानी ने उनसे मुलाकात के दौरानउन्हें 1250 रूपए की नोकरी का भी प्रस्ताव भी रखा। यहां से उन्होंने ट्रेनिग भी शुरू की।

Leave a Comment