ता’लिबान राज में महिलाएँ नहीं खेलेगी क्रिकेट, कहा- यह इ’स्लाम के खि’लाफ, अब राशिद खान को चुकानी पड़ेगी कीमत

अ’फ’गा’निस्ता’न में ता’लि’बान धीरे धीरे अपना अ’स’ली रं’ग भी दिखा रहा है। उसने म’हिला को लेकर स’ख्त र’वैये’ को एक बार फिर से ज’गजा’हिर भी कर दिया है। ता’लि’बान ने साफ कर दिया है कि कि अ’फ’गानि’स्तान में म’हि’लाओ को क्रि’केट या फिर कोई भी दूसरे खे’ल खेलने की इजा’जत भी न’ही दी जाएगी।

एसबीएस न्यूज़ को दिए गए इंटरव्यू में ता’लि’बान के सां’स्कृति’क आयो’ग के डिप्टी हेड अब्दु’ल्ला वासिक ने बताया है कि खेल में कुछ ऐसा खास भी न’ही है जो महि’लाओ के लिए जरूरी है।वा’सिक ने आगे बताया है कि मुझे न’ही लगता है कि म’हिलाओ को क्रिकेट खेलने की अनुमति भी दी जाएगी।

afghanistan women cricket team 2021

क्रिकेट में उन्हें ऐसी स्थिति का भी सामना कर सकता है जहां पर उनका चेहरे और शरीर ठका हुआ नही होगा। इ’स्ला’म महि’लाओ को इस तरह से देखने की भी इजा’जत न’ही देता है। उन्होंने आगे कहा है कि यह मी’डिया का युग है। क्रि’केट मैच की तस्वी’र और वीडि’यो होंगे और सभी लोग इसको भी देखेंगे।

इसके अला’वा भी बता दे कि वा’सिक ने अगले महीने ही एसबी’एस पश्तो को बताया था कि ता’लि’बा’न पु’रुषों के क्रि’केट को जारी रखने के लिए सहमत है और उसने पु’रुषों की रा’ष्ट्रिय टीम को इस साल के अंत मे होबा’र्ट में एक टेस्ट मैच के लिए

afghanistan women cricket team 2021

ऑ’स्ट्रेलिया का दौरा करने के लिए भी सह’मति दे दी है। हालांकि ता’लि’बा’न के बद’लते हुए रवै’ए और मौ’जूदा बातों के बाद भी अ’फगानि’स्तान में पु’रुषों क्रि’केट टीम के भ’विष्य पर भी सं’देह के बा’दल मंड’राने लगे है।

Leave a Comment