बीजेपी का सबसे बड़ा सहयोगी दल CAA के खिलाफ, कहा- कानून वापस लेने की अपील करते है

देश मे चार राज्यो ओर एक केंद्र शासि’त प्रदेश में चुना’व होने वाला है। इस चुनाव में वि’धानस’भा चुनाव से पहले नाग’रिकता कानू’न को लेकर ‘ए’नडीए में मतभेद भी चल रहा है । तमिलनाडु में बीजे’पी की स’हयोगी पार्टी एआईएमडी’एके ने अपने चुना’वी घोष’णा’पत्र जारी करते हुए कहा है कि पार्टी केंद्र स’रका’र से नागरि’कता का’नू’न को वा’पस लेने के लिए भी कह’ती रहेगी।

एआईएमडीएके ने बीते दिन ही जारी घोष’णा’पत्र के दौरान पार्टी के नेता सी पर्णय’न ने कहा है कि हम भारत मे श्रीलंका’ई तमिल शर’णार्थि’यों के लिए दोहरी ना’गरिक’ता और आवासी’य पर’मिट के लिए केंद्री’य सरका’र से भी अनुरो’ध करेंगे।साल 2020 में भी नाग’रिकता का’नून को लेक’र जम’कर वि’रोध प्रदर्श”न भी हुए थे।

aiadmk bjp

हा’लांकि जब भी केंद्र सरकार ने कानू’न को वाप’स लेने से सा’फ इंका’र कर दिया था।एआईएमडीएके के पार्टी ने कहा है कि अगर उनकी राज्य में सर’कार बनती है तो वह परिवार के एक सदस्य में से एक को सर’कारी नोकरी दी जाएगी। इसके साथ ही हर साल हर प’रिवार को 6 एलपीजी सिलेंडर भी मुफ्त में मिलेंगे।

इतना ही नही पार्टी ने आगे कहा है कि 48 ग्राम तक के गोल्ड लोन मा’फ करने का भी एला’न किया है। तमि’लनाडु में सह’कारी संस्था’ओं द्वारा बाटे गए 20 हजार करोड़ के लोन का करीब 40 फीसदी हिस्सा गो’ल्ड लो’न का ही है।

aiadmk bjp

बता दे कि तमि’लनाडु में bjp ‘एआई’ए’मडीएके के साथ चुनाव लड़ रही है। इसके गठ’बंधन के तहत बी’जेपी को 20 सीटें मि’ली है। जबकि एआई’एमडी’एके 177 सीट पर चुनाव है। विधा’नसभा के 234 सीटों के लिए चुनाव6 अप्रैल को है जबकि इसके नतीजे 2 मई को आएँगे।

Leave a Comment