असदुद्दीन ओवैसी पश्चिम बंगाल में Muslim वोट लेकर बि’गाड़ेंगे ममता बनर्जी का गणित ? जानिए क्या कहते है सर्वे ….

प’श्चिम बं’गाल विधा’नसभा चुना’व से पहले अप’ना सभी पा’र्टि’यां अ’पना द’म’ख’म दिखा रही है। सिए’नेक्स सर्वे के अ’नुसा’र, प’श्चिम बंगा’ल में एक बार फिर म’म’ता बन’र्जी कि सर’का’र बनती दिख रही है। प’श्चिम बंगाल चु’नाव इस बार कई मा’य’नों में खा’स है। एक और टी ए’म’सी और भाज’पा आमने सामने है। वहीं दूसरी और उनके मु’काबले लेफ्ट और Congress का गठब’न्धन है।

वहीं तीसरी और ओ’वैसी की AIMIM पार्टी भी पहली बार बं’गाल चुना’व मे जोर आ’जमा’इश दिखाने जा रहे है।ओवैसी को पिछले बार बि’हार में अच्छे वोटों पर जितने के बाद ओवै’सी कि पार्टी अब पश्चिम बंगाल में अपनी मौजूद’गी दर्ज करना चाहते है । ऐसे में यहां पर मु’स्लि’म वोटों का ब’टवारा हो सकता है। राजनी’तिक विशेषक’प्रदीप सिंह और शि’वाजी सर’कार का मानना है

AIMIM BANGAL 2021

कि बिहार से लगती सीमा के निक’ट जो वि’धान’सभा क्षेत्र है वहां पर ओवैसी कि पार्टी का असर देखा जा रहा है। प्रदीप सिंह का कहना है किपहले पश्चि’म बंगाल में बड़ी संख्या में इनके वोटों पर टिए’मसी का क’ब्जा हुआ करता था। इस बार इसमें सेंध लगाने में ओवै’सी सफ’ल हो सकते है।

बता दे कि पिछले साल हुए ‘बिहार विधा’न’सभा चुनाव में AIMIM को 5 सिटे मिली थी। उसंका वोट फीसदी 1.25 रहा था Aimim ने बिहार की 243 सीटों में से 20 पर अपने उम्मीदवार उतारे थे। इनमे से 14 सीटे मु’स्लिमो बहुल सी’मांचल इलाके से थी। शिवाजी की राय में ओवैसी के इस चुनाव में आने का फा’यदा सीधे तौर पर भा’ज’पा को मिलेगा।

AIMIM BANGAL NEWS

इसकी वजह वो यह मानते है कि भा’ज’पा को राज्य में पहले भी मुस्लिम वोट। या न के ही बराबर मिलते है। ओवै’सी के आने के बाद वोटों का जो बटवारा देखने को मिलेगा उसमे टी एमसी को सबसे बड़ा नु’कसा’न हो सकता है।ओवैसी इस चुनाव में टी एम’सी के वो’ट का’टेंगे, जिसका फाय’दा भा’जपा को होगा’।

Leave a Comment