असदउद्दीन ओवैसी की बिहार में एन्ट्री से काग्रेंस और राजद की बढी टेंशन, AIMIM लड़ेगी 50 सीटों पर चुनाव

बिहार चुनाव को लेकर गमहागहमी जारी है । फिलहाल राजनैतिक पार्टिया गठबंधन से लेकर चुनाव टिकट को लेकर रस्साकस्सी जारी है । आज हम आपको बताने जा रहे है हैदराबाद के सांसद बैरिस्टर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी के बारे में जिनकी बिहार में एंट्री से कांग्रेस और आरजेडी को नुकसान होने की सम्भवना बताई जा रही है । बिहार की राजनीति में गहरी रुचि रखने वाले एक्सपर्ट मानते है कि ओवैसी की पार्टी AIMIM इस बार पहले के मुकाबले मुस्लिम वोट पाने वाली पार्टियों को नुकसान पहुँचा सकते है ।

ओवेसी की पार्टी ने 50 सीटों पर चुनाव लड़ने का एलान कर दिया है। इसी के साथ ही बिहार की सियासत में ओवेसी अपने पैर जमाने की कोशिश में लगे हुए है। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर ओवेसी की पार्टी ने पूरी तरह से उतरने का एलान करदिया है।2015 में महज 6 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली एआईएमआईएम नेइस बार चुनाव में अभी तक 50 सीटों के नाम का एलान तो कर दिया है लेकिन केन्डिडेड के नाम की घोषणा नही की है।

asaduddin owaisi bihar 2020

AIMIM के बिहार अध्यक्ष अख्तरुल ईमान ने हाल ही में 18 विधानसभा सीटों पर लड़ने का एलान कर दिया है ।इससे पहले उन्होंने 32 सीटों पर लड़ने का एलान किया था। अब एआईएमआईएम की पार्टी 50 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आईआईएम पार्टी के नेताओं ने कहा है कि भाजपा और जदयू के खिलाफ सामना विचारधारा की पार्टियों से भी सीटो के तालमेल के सम्बंध में बातचीत जारी है।

प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया है कि सरकार से लोग निराश है। विकास नही होने से मजदूर भारी संख्या में वापस जा रहे है। पार्टी की इच्छा है कि गेर एनडीए दलों के साथ बिहार में मजबूत मोर्चा बनाया जाए पार्टी इसके प्रयास में लगी हुई है।

asaduddin owaisi bihar 2020

बता दे, बिहार में ओवेसी की पार्टी AIMIM पिछके साल उपचुनाव में खाता खोलने में कामयाब रही है। लोकसभा चुनाव के बाद बिहार के किशनगंज सीट पर हुए चुनाव में उनकी पार्टी के उम्मीदवार कमरुल होदाने शानदार प्रदर्शन करते हुएजीत दर्ज की थी।

Leave a Comment