कांग्रेस ने इस मुस्लिम पार्टी को बताया था बीजेपी की बी-टीम, अब मिलाया कांग्रेस ने हाथ, कहा- मिलकर लड़ेंगे 2021 चुनाव

साल 2006 के विधानसभा चुनाव में असम के कांग्रेस नेता और तत्कालिन मुख्यमंत्री तरुण गोगई ने जिस बदरुद्दीन अजमल को पहचानने से इनकार करदिया था। कांग्रेस को वक्त और सियासत ने ऐसी जगह पर लाकर खड़ा कर दिया है कि आज कोंग्रेस ने बदरुद्दीन अजमल की ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट से गठबंधन कर चुनावी मैदान में उतरने का फैसला किया है।

बता दे, एक समय कांग्रेस ने बदरुद्दीन अजमल वाली पार्टी को बीजेपी की बी टीम तक कह दिया था, जिसके बाद विवाद भी हुआ । अब जब कांग्रेस, AIUDF पार्टी से हाथ मिलाने जा रही है तब भी ये खबर सुर्खिया बतौर रही है ।असम में अगके साल 2021में होने वाले चुनावी को लेकर कोंग्रेस ने राजनीतिक समीकरण को बनाने शुरू कर दिए है।

aiudf congress news

बीजे’पी को मा’त देने की वजह से कोंग्रेस तमाम विपक्षी दलों के साथ मिलकर गठबंधन बनाने की कवायद में जुटी हुई है।पी टी आई के मुताबिक, असम प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने कहा है कि ए आई यूडीएफ ने महागठबंधन का हिस्सा बनने के लिए तैयार हो गई है। वामपंथी दल भी गठबंधन में शामिल होने के बारे में अपनी सहमति दे चुके है।

बोरा ने बताया है कि महागठबंधन की हमारी संकल्पना पर हमे बेहद ही सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली है। वाम दल एसक हिस्सा बनने के लिए सहमत हुए है और कहा है कि आंतरिक चर्चा के बाद इस बारे में वो अंतिम निर्णय लेंगे।बता दे कि मंगलवार को कांग्रेस नेता तरुण गोगई ने कहा है कि उनकी पार्टी ने2021के विधानसभा चुनावों के लिए ऑलइंडिया यूनाइटेडडेमोक्रेटिक फ्रंट के साथ एक महागठबंधन बनाने का फैसला किया है।

aiudf congress news

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा है कि असम में भाजपा के खि’ला’फ ल’हर है। राज्य में युवाओं, कि’सानों, आ’दिवा’सियों और बं’गालि’यों को लगता है कि उनकेसाथ धो’खा हुआ है। लोगो की नोकरियों जा रही है और चारो और अ’निश्चि’तता का माहौल है। असम के लोग एक महागठबंधन चाहते है।

Leave a Comment