आस्ट्रेलियाई शख्स ने कुबूल किया इस्लाम धर्म, कहा- रात में कुरआन की तिलावत करता हूँ और …

इ’स्ला’म को कुबू’ल करने वालो का सिलसिला लगातार हर दिन बढ़ता जा रहा हैं । हर देश और हर क्षेत्र में अब इ’स्लाम ध’र्म को कुबूल कर रहे है और अपने जिंदगी इस्लाम धर्म को जानने में समर्पित कर रहे है। आइए जानते है । ऑस्ट्रेलिया के रहने वाले शख्स के बारे में जिन्होंने अपना सपना पूरा करने के लिए इ’स्ला’म कुबू’ल किया है।

32 साल के ऑस्ट्रेलियाई व्यक्ति ने अपने सपनो की लड़की से शादी करबे के लिए इस्ला’म कुबूल किया है। वह अपनी इराकी पत्नी की संस्क्रति और ध’र्म में खूद को बदलने और इ’स्ला’म ध’र्म से मोहब्बत करने के बाद इस फैसले पर कायम हुए है।बता दे, एबिस न्यूज़ रिपोर्ट के मुताबिक,बिगार्ट लेम्प्रे पहली बार 21 वर्षीय नूरा अल मटोरी से ऑस्ट्रेलिया के वाग्गा शहर में अक़ कैफे पर मिले थे।

iqar women islam

उसकेबाद से ही लेम्प्रे ने छह महिने का समय अल मटोरी से मिलने औरउससे बात करने की उम्मीद में कैफे पर जाकरबिताने का फैसला किया।उन्होंने आगे कहा है कि हर बार जब भी मैं कैफे जाता था तोमैं वहां के क’र्मचा’रियों से नूर के बारे में पूछा करता था। khaleej times की रिपोर्ट के मुताबिक, उन्होने बताया कि मैं हर रोज नूरा को देखने के लिए कैफे जाया करता था।

उंसके बाद फिर हमारी बात शुरू होने लगी। नूरा ने बोगरट को अपना दोस्त बनाया। नूरा ने कहा कि मैं ऑस्ट्रेलियाई लोगो के साथ ही बड़ी हुई हूं और मेरे बहुत सारे दोस्त है। इसलिए इसके साथ कोई भी समस्या नही थी। मैं खुद को किसी ऐसे व्यक्ति से शादी करते हुए नही देख सकती थी जो मध्य पूर्व से ताल्लुक रखता हो।

iqar women islam

उन्होंने आगे बताया कि मैंने फैसला किया कि अगर वह साथ मे रहना चाहते है तो पारंपरिक तरिके से काम करना होगा। मैने इसे अपनाया भी और अब मैं हर रात क़ुरआन को भी पड़ता हूं। क़ुर’आ’न जो ‘इ’स्ला’म ध’र्म मे सबसे बड़ी और पवित्र किताब है। इसके अलावा भी मैंने इस्ला’म को कुबूल किया है।

Leave a Comment