कु’दरत का क’रिश्मा, न’माज़ पढ़ने के बाद हुई जं’गल में तेज़ बा’रिश, 4 महीने से लगी थी ऑ’स्ट्रेलिया के जं’गलो में आ’ग

खबर आस्ट्रेलिया से है । ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स के जं’गलों में करीब 4 महीनों से भी’ष’ण आ’ग लग रही है। यह आ’ग बढ़ते बढ़ते इतनी फै’ल गई कि करीब 50 करोड़ बेजुबान जा’न’व’र मौ’त गई। यही नहीं यह आ’ग इतनी ज्यादा खत’र’ना’क है कि दूरदराज़ के इलाकों में ये आ’ग पहुँच गई । इसी का’रण से सरकार ने आ’पा’त’का’ल की घोषणा कर दी है। इसके आस पास के इ’लाकों को खाली कराया जा चुका है।

बता दे कि इस आ’ग को बढ़ते हुए देख दुआ के लिए मु’स्लि’म समाज ही नहीं यहां के किसान और ईसाई भी साथ आए । सब ने मिलकर बीते 4 महीने से लगी आ’ग को बुझा’ने या राहत देने के लिए बारिश होने के लिए दु’आ की थी। इन यहां मौजूद फ़ोटो और न्यूज़ में आपको साफ दिख जायेगे कि इसमें बढ़चढ़कर ई’साई और कि’सानों ने भी हिस्सा लिया । आपको बता दे, इस मौके पर प्रोफेसर अब्दुल्ला ने खु’तबा किया था।

जिसमे उन्होंने अ’ल्लाह से रहम करने और गु’नाहों से तौ’बा क़री गई थी। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया के लिए सला’मती की दुआ मांगी गई थी। आपको बता दे कि इसके कुछ समय बाद वहां पर अ’चानक ही बारिश हो गई । बताया जा रहा है कि अभी वहाँ पर मौसम नही है कि मा’न’सू’न आ जाए लेकिन यह सब अ’ल्ला’ह का करम है वहा के लोगो पर अ’ल्ला’ह की इ’नाय’त हो गई। सोशल मीडिया पर लोग अ’ल्ला’ह के इस रहमत के लिए शुक्रिया अदा कर रहे है ।

और कह रहे है तुम अ’ल्लाह की कौन कौन सी रह’मतों को झुठलाओगे । आपको बता दे, ऑस्ट्रेलिया के जंगलों में मु’स्लि’म के अलावा किसानों, ई’साइयों ने जो न’मा’ज अदा की उस नमा’ज को ‘नमा’जे इ’स्ति’काह’ कहते है। यह न’माज होने के लिए की जाती है, अल्हमदु लिल्लाह दुआ के बाद बारिश हो गई । ऐसा ही ऑस्ट्रेलिया के लोगो के साथ हुआ है। वहा पर करोड़ो जा’नवरो की जा’ने जा चुकी थी।

दुनिया की कोई टेक्नोलॉजी आ’ग ना बु’झा सकी थी ।लेकिन सिर्फ नमा’ज ने ऐसा कर दिया। सब इसे कुद’रत का क’रि’श्मा बता रहे है । बता दे कि ऑस्ट्रेलिया के जं’ग’लों में ल’गी आ’ग को देखते हुए स्कॉट मोरसिन ने 13 जनवरी से शुरू भारत की चार दिवसीय यात्रा को रद्द कर दिया है। उनका कहना है कि वो पहले ऑस्ट्रेलिया के नागरिकों का ध्यान रखना चाहते है।

वहां पर 1000 घर त’बा’ह हो चुके है। कई लोगो की मौ’त भी हो चुकी है। म’ध्य उ’तरी इलाके में सबसे अधिक कोआला प्रजा’ति के जान’व’र निवास करते है। जं’ग’लों में लगी आ’ग की वजह से उनकी आबादी में भा’री गि’रा’व’ट आई है। कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी आबादी आ’धी रह गई है। बता दे, ऑस्ट्रेलिया में लगी आ’ग का धु’आँ न्यूज़ीलेंड में पहुँच गया है।

आपको बता दे ऑस्ट्रेलिया में लगी आ’ग की रा’हत मिलने किये पूरी दुनिया में दुआ’ओं का सिल’सिला जारी है। सोशल मीडिया पर जं’गलो में लगी आ’ग #PrayForAustralia भी हैश टैग चलाया जा रहा है। इस हैश टैग और दु’आओं का लगातार सिलसिले का असर आस्ट्रे’लिया में देखने को मिला। वहा पर लगी 100 दिनों से ज्यादा आ’ग को तब राहत मिली जब वहा पर बा’रिश हुई।

Leave a Comment

close