कोरोना के बीच बेल्जियम से आई मु’सलमानों के लिए बू’री खबर, मु’स्लिम म’हिलाएँ उतरी सड़कों पर, जानिए

आज दुनिया मे इ’स्लाम ध’र्म को मानने वालों की संख्या दुनिया मे दूसरे पायदान पर है । यानी दुनिया मे हर चौथा शख्श मु’स्लि’म है , आप इसी से अं’दाजा लगा सकते है कि मु’स्लि’मा का पूरी दुनिया के कितना वर्च’स्व है । लेकिन इसके बावजूद दुनिया मे इ’स्ला’मो’फो’बि’या का सं’क’ट रो’ज़ ब रो’ज़ किसी न किसी देश मे देखने को मिलता है ।

ऐसे मामले वहां अधिक पाए जाते है या होते है जहां पर मु’स्लि’मों की संख्या या तो कम होती है । आजकल दुनिया मे ऐसे मामले इ’स्ला’म ध’र्म का वि’रो’धि’यों द्वारा ग’लत प्र’चा’र और राज’नी’ति के लिए भी होता है । एक ऐसा ही मामला (बे’ल्जियम) में सामने आया है,जिसको देखकर आप है’रा’न रह जाएंगे ।

belgium women protests against burkha

 

बेल्जि’यम में यू’निव’र्सिटी में मु’स्लि’म ल’ड़कियी को हि’जा’ब पहनने पर प्र’ति’बं’ध लगा दिया गया है। इस का’नू’न के बाद राजधानी ब्रसल्ज की सड़कों पर लोगो ने प्रदर्श’न किया। यह पूरा मामला इस्ला’मो’फो’बि’या से प्रे’रित लग रहा है । प्र’द’र्शन’कारि’यों ने बे’ल्जि’यम की संविधा’न अ’दालत जे उस फैसले का वि’रो’ध किया जिंसमे कहा गया है ।

कि देश के विश्व विद्यालय में हि’जा’ब न’ही प’हना जाएगा। को’रो’ना सं’क’ट के बीच हजारो के तादात में मा’स्क पहने म’हि’लाएं सरकाए के खिलाफ सड़को पर उतर कर इस फै’स’ले के खि’ला’फ वि’रो’ध प्रद’र्श’न करती हुई नज’र आई। महि’ला’ओं ने स’र’का’र के खिलाफ ना’रे’बा’ज़ी करके अपना गु’स्सा जाहिर किया।

belgium women protests against burkha

 

साथ ही महि’ला’ओं ने कहा कि वह इस मु’स्लि’म वि’रो’धी फै’स’ले को नही मनाती है और वो चाहे अपना हि’जाब किसी भी कीमत में नही उतारेगी फिर चाहे यह आदेश सरकार द्वारा ही क्यो न दिया गया हो। हालिया वर्षों में ही यूरोप के कई देशो ने मु’स्लि’म महि’लाओं के हि’जाब के खिलाफ का’नून बनाए है।

Leave a Comment

close