कश्मीर..CAA..NRC पर मुखर रहे है बाइडेन और कमला, मुस्लिमों के हक़ के लिए बोल चुके है,इसलिए अमेरिकी मुस्लिमो ने..

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में डे’मोक्रे’टिक पार्टी के उम्मीदवार जो बाइडेन ने जीत की ओर कदम बढ़ा किया है,उनकी जीत निश्चित कही जा सकती है । ताज़ा आंकड़ों के मुताबिक उन्हें सिर्फ राष्ट्रपति बनने के लिए 6 इलेट्रॉलर वोट चाहिए । वाशिंगटन DC की माने तो ये आंकड़े भी जल्द ही जो बाइडेन छू लेंगे। इसी कड़ीं में उप राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस है जो भारतीय अफ्रीकी मूल की महिला है ।

चाहे डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार बाइडेन हो या कमला हैरिस दोनों ने भारत को लेकर कई बातें खुलकर की है । भले ही डेमोक्रेटिक पार्टी ने अपने चुनावी भाषणों में भारत को पक्का दोस्त बताया हो लेकिन उन्होंने भारत के कई मुद्दों और खुलकर बात भी की है ।

biden harris

जम्मू कश्मी’र के हालात पर टिप्पणी
डेमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार जो बिडेन ने ज’म्मू कश्मी;र मुद्दे को अपनी चुनावी सभा मे उठाया था । उन्होंने आर्टि’कल 370 हटाए जाने के वि’रो’ध के साथ साथ कश्मीर में लगे लंबे लॉक डाउन की भी आ’लोच’ना की थी। इसके अलावा बाइडेन ने कश्मीर के नेताओ को न’जरंदाज रखने का भी खुलकर विरो’ध किया था । सिर्फ अमेरिकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बाइडेन ही नही अपितु उप राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार कमला हैरिस ने भी कश्मी’र मु’द्दे को लेकर खुलकर अपनी राय रखी थी।

उन्होंने कश्मी’र में न’जर’बंद नेताओ को लेकर कहा था कि हम उनके साथ खड़े है वो खुद को अकेला नही समझे । कमला ने ट्वीट कर कहा था कि जरूरत पड़ने पर वो हस्त’क्षेप भी कर सकते है । कमला ने यहाँ तक कहा था कि ये मा’नवाधि’कारों के नि’य’मों का पूरी तरह से उल्लं’घ’न है ।

kamala harris

CAA-NRC पर भी बोले थे बाइडेन-हैरिस
भारत मे पिछले साल नाग’रिक’ता का’नून, नेशनल रजि’स्ट्रेशन फ़ॉ’र सिटी’जन को लेकर देश भर विरोध प्रदर्शन देखने को मिला था । इस पर भी जो बाइडेन ने टिप्पणी की थी। उन्होंने कहा था कि भारत का का’नून इससे मैच नही खाता है क्योंकि भारत सेक्युलरि’जम और लो’कतंत्र पर टिका हुआ है ।

जो बाइडेन के इतर कमला हैरिस भी CAA, NRC के विरोध में अपनी सभाओं के साथ सोशल मीडिया पर भी आवाज उठा चुकी है। जब भारत के विदेश मंत्री जयशंकर अमेरिकी दौरे ओर थे तब उन्होंने उस सीनेटर से मिलने से मना कर दिया था जिसने CAA, NRC का वि’रो’ध किया था । इस पर कमला हैरिस ने विदेश मंत्री की कड़ीं आलो’च’ना भी की थी।

trump vs biden

पाकि’स्ता’न के मामले पर बाइडेन का रुख
जो बाइडेन ने चुनावी सभाओं में आ’तंकवा’द की काफी आ’लोच’ना की, इसके खिलाफ स’ख़्त लड़ा’ई की भी कई बार बात की । लेकिन बाइडेन का पाकि’स्ता’न को लेकर हमेशा से रुख नरम ही रहा । बाइडेन का इतिहास पाक के लिए अच्छा रहा है ,जो बाइडेन ने ओबामा कार्यकाल में भी पा’किस्ता’न की बड़ी मदद की थी।

इसमे उपराष्ट्रपति बाइडेन का बहुत अहम रोल बताया जाता है । पा’किस्ता’न स’र’कार ने बाइडेन को हिलाल-ए-पा’किस्तान से भी नवाजा हुआ है । ये पुरुस्कार पा;किस्ता’न का दूसरा सबसे बड़ा नागरिक सम्मान है ।

Leave a Comment