बिहार में मुस्लिम महिलाओं ने रचा इतिहास, सात महिलाएँ सहित 24 मुस्लिम बने जज

Spread the love

पढ़ाई के बीच धर्म मायने नही रखता है, चाहे वो हिन्दू धर्म हो, मुस्लिम हो , सिख हो या फिर ईसाई हो। देश मे सभी धर्म शिक्षा हासिल करते है लेकिन सबसे निचले स्तर पर मुस्लिम धर्म के लोग ही आते है , जो शिक्षा से लेकर जॉब तक मे पिछड़े हुए है ।हमारे देश मे सबसे पिछड़ा धर्म मुस्लिम समाज कहलाता है। सच्चर कमेटी की रिपोर्ट ने भी ये साबित किया है कि मुस्लिम धर्म की हालत सबसे बुरी है।

किन अब मुस्लिम समुदाय भी दिनों दिन आगे बढ़ रहा है। बढ़ती शिक्षा से प्रेरित होकर मुस लमान अपने बच्चों को शिक्षित कर रहा है। इसकी एक मिसाल राजस्थान और बिहार में भी देखने को मिलती है। मुस्लिम लड़कियों ने भी अपना नाम , देश , अपने माता पिता का नाम रोशन किया है। आइये तो आप लोगो को बताते है कि कौंन है वो। बिहार न्यायिक सेवा के परिणाम आ गए है ।

जिसमे 22 मुस्लिम युवाओं ने अपना नाम दर्ज किया है। जिसमे 7 मुस्लिम लड़कियां भी है।सभी 22 मुस्लिम जज बने है।सबसे खास बात यह रही कि इसमें 7 मुस्लिम लड़किया है।पटना जिले की हिजाब पहनने वाली लड़की सनम हयात ने सभी मुस्लिम प्रतिभागियों में सबसे ज्यादा रैंक हासिल की है। सनम हयात बहुत ही ज्यादा सुर्खियों में है। इन्होंने अपनी कड़ी मेहनत से 10वी रैंक हासिल की है।

इनके अलावा झारखंड के बोकारो जिले की बेटी शबनम जबी के जज बनने पर बहुत तारीफ हो रही है। हाल ही में राजस्थान में आए परिणाम में 6 मुस्लिम चुने गए है। जिनमे से 5 मुस्लिम लड़किया है।इसके अलावा बिहार जिले में 22 मुस्लिम जज बने है। जिनमे से 7 लड़किया है। बता दे कि शुक्रवार को परिणाम के मुताबिक 30वी बिहार न्यायिक सेवा परीक्षा में कुल 1080 उम्मीदवार को इंटरव्यू के लिए बुलाया गया था। जिसमे से सिर्फ 687 लोगो को चुना गया है।

rajasthan

उत्तरप्रदेश न्यायिक सेवा के परिणाम की तुलना में यह रिजल्ट कम है। मगर वर्तमान की तुलना में काफी ज्यादा तरक्की हासिल की है। सबसे खासतौर पर 7 लड़कियों का जज बनना बहुत ही काबिले तारीफ है। इन्होंने की रैंक हासिल ।सनम हयात ने 10 वी रैंक, महविश फातिमा ने 29 वी रैंक, मोहम्मद अफजल खान ने 109 वी रैंक, मोहम्मद अकबर अंसारी ने134 वी रैंक । गजाला साहिबा ने 177 वी रैंक, शारिक हैदर ने 117 वी रैंक , आसिफ नवाज ने 121 वी रैंक।

नाजिया खान ने 131 वी रैंक,उजमा कमर ने 133 वी रैंक, नाजिम अहमद ने 289 वी रैंक, शबनम जबी ने 294 वी रैंक, मोहम्मद शोयब ने 398 वी रैंक । मासूम खानम ने 440 वी रैंक, सफदर सालन ने 445 वी रैंक, मोहम्मद फ़हद हुसैन ने 447 वी रैंक, सबा शकील ने 486 वी रैंक, शाद रज्जाक ने 506 वी रैंक, मजहबी नाज ने 541वी रैंक , मसरूर आलम ने 559 वी रैंक, गुलाम रसूल ने 464 वी रैंक, सरवर अंसारी ने 524 वी रैंक, इजम्मुल हकने 471 वी रैंक हासिल की ।

Leave a Comment

close