बिहार विधानसभा के बाहर लगें ‘अल्लाहू अकबर’ और ‘ओवैसी जिंदाबाद’ के नारे, AIMIM विधायक कमरुल हुडा बोले –

हैदराबाद की पार्टी आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन ने बिहार में एंट्री के बाद लगातार सुर्खियों में है । बीते दिनों , बिहार उपचुनाव में AIMIM पार्टी में जीत दर्ज कर खाता खोला था । पहली बार ओवैसी की बिहार में एंट्री से कई राजनेताओं ने बयान दिए थे जबकि आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन पार्टी चीफ ने बिहार में हुई उनकी पार्टी की जीत पर काफी खुश दिखाई दिए थे । आज बिहार उपचुनाव में नवनिर्वाचित विधायकों का पटना विधानसभा में शपथ ग्रहण प्रोग्राम था ।

जिसमें AIMIM पार्टी के जीते हुए उम्मीदवार कमरुल हुदा के साथ बिहार आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन अध्यक्ष सहित उनके कई समर्थक पहुँचे थे । सीएम नीतीश कुमार और बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी की उपस्थिति में नवनिर्वाचित विधायकों की शपथ दिलाई गई । इस दौरान यहां एक वाकया भी पेश आया जो सुर्खिया बन गया है । बता दे, आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन पार्टी और उनके समर्थक बिहार में उपचुनाव में जीत से काफी उत्साहित है ।

bihar

विधानसभा के बाहर आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन के समर्थक भी पहुँचे,जहाँ पर उन्होंने जीते हुए प्रत्याक्षी कमरुल हुदा को फूल मालाओं से स्वागत किया । तस्वीरे आप देख सकते है । ओवैसीके समर्थकों ने विधानसभा के बाहर ओवैसी जिंदाबाद के नारे भी लगाए । शपथ समारोह के बाद आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन प्रत्याक्षी काफी उत्साहित नजर आए और उन्होंने आने वाले विधानसभा चुनाव में मजबूती से लड़ने की बात भी कही । सूत्रों के अनुसार आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन पार्टी बिहार में कम से कम 20 सीटो पर चुनाव लड़ सकती है ।

इस जीत के साथ निश्चित तौर पर AIMIM पार्टी के बिहार में हौसले जरूर बढे होंगे लेकिन आगे यह पार्टी कितनी कामयाब होगी ये तो वक़्त ही बताएगा । इस दौरान कमरुल हुदा ने एनआरसी पर भी बात रही और इसका विरोध करने के लिए कहा । आपको बता दे, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने किशनगंज विधानसभा चुनाव में Aimim की जीत पर कहा था कि पार्टी ने बहुत ही शानदार तरीके से चुनाव जीती है।

aimim bihar

ओवैसी को जीतन राम जी ने बधाई दी और इस जीत को नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजन यानी एनआरसी के लिए जरूरी भी बताया है। मांझी ने कहा कि ओवैसी के खिलफ कुछ लोगो की विपरीत प्रतिकिया की वह आलोचना भी करते है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिक पंजीकरण के नाम पर दलित और मुस्लिम को बाहरी घोषित करने की कोशिश का सामना करने के लिए ओवैसी की पार्टी की जीत से देश भर में दलित और मुस्लिम एकता को प्रोत्साहन मिलेगा।

उन्होंने कहा कि उनका मत है कि दलित मुस्लिम एकता को और मजबूत करने मात्र से ही निजी क्षेत्र में आरक्षण , न्यायपालिका में आरक्षण एवं समान शिक्षा प्रणाली लागू किया जा सकता है। आल इंडिया मजलिस इत्तेहाद उल मुस्लिमीन के प्रत्याशी कमरुल होदा ने करीब 10 हज़ार वोटों से अपनी जीत हासिल की है। और बीजेपी की प्रत्याक्षी स्वीटी सिंह को हराया था ।

Leave a Comment

close