एर्दोगन के एक आदेश के बाद 70 साल बाद इस मस्जिद मेें गूजेंगी अल्लाहू अकबर की सदाएँ, चर्च से ….

तुर्की राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगन ने हागिया सोफिया चर्च को मस्जिद में बदलने के बाद एक ओर चर्च को मस्जिद में बदलने का ऐलान किया है । इस चर्च का नाम चोरा चर्च है जो चौथी सदी का ऑटोमन साम्राज्य का है । तुर्की सरकार ने 1945 में म’स्जिद को म्यूजि’यम के तौर पर नामांकित किया था और इसे 1958 में म्यू’जियम को आम लोगों के लिए खोल दिया गया था ।

न्यूज़ एजेंसी राइटर्स के मुताबिक शुक्रवार को एर्दोगन ने इस चोरा म्यूजियम को मस्जिद में बदलने का फैसला किया और कहा कि अब यहां पर नमाज पढ़ी जाएगी और इबादत के लिए खोल इसे खोल दिया जाएगा ।तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने शुक्रवार को सभी मुस्लिमो के लिए एक बड़ी खुशखबरी सुनाई है। अपनी प्रेस कॉंग्रेस में बयान करते हुए उन्होंने कहा है कि तुर्की ने काले सागर में अब तक का सबसे बड़ा प्राकृतिक गेस का भंडार ढूंढ लिया है।

choura chrch news

उन्हीबे आगे कहा है कि इसका लक्ष्य 2023 तक शुरू करने का है। इस भंडार से दूसरे देशो पर निर्भर होना नही पड़ेगा। फतिह नामक जहाज ने 320 अरब क्यूबिक मीटर प्राकृतिक गैस भंडार टूना-1 कुए में पाया है। उन्हीने इसे तुर्की की इतिहास की सबसे बड़ी प्राकृतिक गैस की खोज बताया है।उन्हीने कहा है कि भूमध्यसागर और काले सागर में फतेह और यावुज जहाज के जरिए उन्हीने 9 बार खुदाई की है ।

जब उन्हें इसकी प्राप्ति हुई है। हम अपने देश के ऊर्जा मुद्दे से पूरी तरह हल करने के लिए सफल हुए है। तुर्की के वित्त मंत्री बेरात अलबैराक ने फतेह जहाजसे ही वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कहा है कि उनके पास जरूरत की गैस का भंडार होग और नए दौर का आगज होगा।

choura chrch news

वित्त मंत्री ने कहा है कि गैस के भंडार समुर्द के अंदर 2,100 मीटर नीचे मिले है। आगे कहा है कि हमारा अभियान यही पर खत्म नही होगा, हम खुदाई का काम शुरू करते रहेंगे और समुद्र के भीतर 1,400 मीटर और नीचे जाएंगे। माना जा रहा है कि इस गेस के भंडार मिलने से अब रूस, ईरान और अजरबैजान पर निर्भर रहना नही पड़ेगा।

पूर्वी भूमध्यसागर में गैस की खोज के दौरान तुर्की और ग्रीस देश के बीच काफी तनाव भी बड़ा है। अमेरिकी भूगर्भीय सर्वे के मुताबिक, इस क्षेत्र के लेवन्त बेसिन में प्राकृतिक गैस और1.7अरब बैरल तेल के भंडार है।

choura chrch news

फतेह जहाज का नाम समाचार एजेंसी एएफपी का कहना है किखुदाई करने वाले तुर्की के जहाज का नाम उस्मानिया सल्टनत के सुल्तान रहे फतेह सुल्तान मेहमत के नाम लर रखा गया था।एर्दोगान ने कहा है कि इस साल के आखिर तक वो कनूनी जहाज के जरिए भूमध्यसागर में गतिविधियों को और ज्यादा बढ़ावा दिया जाएगा .

तुर्की और भारत के रिश्ते बिग;ड़ते हुए नजर आ रहे है क्योंकि भारत के बॉलीवुड एक्टर आमिर खान ने एर्दोगान की पत्नी फस्ट लेडी से मुलाकात की ओर मुलाकात के बाद ही सोशल मीडिया और हं’गा’मा देखा गया है।आमिर अपनी फिल्म लाल सिंह चड्डा की शूटिंग करने के लिए तुर्की गए है। जिसे लेकर भारत के कई नेता’ओं ने सवाल भी खड़े किए है।

Leave a Comment