यूसुफ़ हमीद की कम्पनी CIPLA ने कोरोना संकट में दिया 3 करोड़ का दान, इससे पहले बगैर मुनाफ़े के ..

को’रो’ना सं’क’ट के काल मे हर कोई इंसान ने दरिया’दिली दिखाई और जरू’र’तमन्द लोगो की मदद करने के लिए आगे आ रहे है ।इसी बीच को’रो’ना सं’क’ट की वजह हो रही प’रेशा’नी को देखते हुए यूसुफ हमीद की बुरास्ट्रीय दवा कम्पनी सिप्ला ने महाराष्ट्र सरकार को राज्य आप’दा प्रबं’धन को’ष में तीन करोड़ रुपए का दा’न किया है। कम्पनी के सीईओ निखिल चोपड़ा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को शनिवार को तीन करोड़ रुपए का चेक सोंपा है।

उन्होंने कहा है कि इस पूरे कोरो’ना’ सं’कट के दौरान, दवा निर्माण करने वाली कम्प’नियों और राज्य सरकार के ताल’मेल के बीच कोरो’ना म’री’जो के लिए उपयोग और जीवन’रक्ष’क द’वा’ओं की आपू’र्ति को बनाए रखा जा सकता है।बता दे कि हाल ही में सिप्ला ने को’रो’ना वा’इ’र’स के म’री’जो के इला’ज में कामगर साबित हुई है। रेमेडीसीवीर का जेनरिक वर्जन सस्ते दाम पर उपलब्ध कराया है। सिप्ला ने रेमेडीसीवीर की जेनरिक वर्जन’सिप्रे’मी को लॉन्च किया है।

cipla donates

सिप्ला ने सिप्रेमीकी कीमत 4,000 प्रति 100 mg वाइल रखी है। जो दुनिया भर में को’रो’ना वा’य’र’स के इला’ज में इस्तेमाल हो रही द’वाओं से काफी कम है। सिप्ला ने इस मामले में पहले ही साफ कर दिया है कि इस दवा की कीमत 5 हजार रुपएसे ज्यादा नही रखी जाएगी। बता दे कि हामिद का नाम लंबे समय से फोब्र्स की लिस्ट में शामिल है। यूसुफ की कुल सम्पत्ति 2.5 बिलियन डॉलर है। हामिद जाने माने वाले वैज्ञानिक है।

यूसुफ ख्वाजा हमीद एक भारतीय वैज्ञानिक और अरबपति व्यवसाय है और ये सिप्ला कम्पनी के अध्यक्ष भी है। 1935 में अपने पिता ख्वाजा अब्दुल हमीद द्वारा एक स्थपित एक जेनेरिक फार्मास्यु’टिकल क’म्पनी है। इन को भारत सरकार द्वारा सन 2006 में चिकित्सा’विज्ञान के क्षेत्र में पदम् भूषण से सम्मनित किया गया था।ये महाराष्ट्र जिले में रहते है।

cipla donates

महाराष्ट्र में को’रो’ना ने अब तक के सारे रिकॉड को पार कर रखा है। म’हा’राष्ट्र में एक दिन में सबसे ज्यादा 9,518 नए मामले सामने आए है। वही को’रो’ना म’हामारी से 258 लोगो की मौ’त हो गई है। महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक लोक डाउन जारी है। बता दे, इसके अलावा कई राज्यों में लॉक डाउन लगाया गया है, इससे आम जनता को परेशानि’यों का सामना करना पड़ रहा है ।

Leave a Comment

close