कोरोना: आसिया-जावेद के एक आइडिया से बची लाखों लोगों की जिंदगीया, दुनिया भर में हो रही तारीफ़

इन दिनों दुनियाभर के दुनिया के कई देश कोरोना सं’क्रमण से जूझ रहे है। जहाँ पर लोगो को कई परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। खाने पीने से लेकर कई जरूरत की सामानों को लेकर। ऐसे हालातो में मदद करने वालो का सिल’सिला बढ़ता जा रहा है।स्कॉट’लैंड में रहने वाले दम्पति आ’सिया और जावेद के कहानी जिन्होंने मदद करने का एक अनोखा तरीका अपनाया है। दरअसल आसि’या ने जब एक रोज अपनी दवाई की दुकान के सामने एक बुजुर्ग को हैंड सेनेटा’इजर खरीदने के लिए पैसा न होने की बात को सुना तो उन्हें लगा कि ना जाने ऐसे कितने लोग होंगे।

जिनकी उन्हें मदद करनी चाहिए।इसके बाद आसिया और उनके पति जावेद ने मिलकर एक नई शुरुआत की।अपने घर पर ही पार्सल बनाना शुरू किया। इस तरह उन्होंने अपने पेसो से हैंडवाश और फेस मास्क खरीदकर लोगो की जरूरत को पूरा किया। इनमे बड़ी संख्या बुजुर्गों की थी।उन्होंने इस बारे में फेसबुक पर पोस्ट भी किया। इससे बात दूर तक पहुची। आसिया बताती है कि इसके बाद लोग भी मदद को आगे आने लगे और उन्हें कुछ पैसों के लिए लिफाफे भी मिले।

जिनमे 10 से 20 पाउंड रखे हुए थे।उन्होंने ये काम मार्च में हुए लोक डाउन के बाद से ही शुरू कर दिया था । उन्होंने पहले ही सोच लिया था कि वो अपने जेब से 5,000 पाउंड खर्च करेंगे। बता दे कि उन्होंने पिछले 4 सप्ताह में लगभग 3000 से ज्यादा मास्क और 1000 से ज्यादा पार्सल जरूरतमंदों तक पहुँचा दिए है।यह सब समान देने के बाद आसिया और जावेद ने जब देखा कि लोगो के पास खाने के लिए कुछ भी नही है ।

तो उन्होंने FB पर लिख दिया कि वो भोजन मुफ्त बाटेंगे ।उन्हें इस काम के लिए 200 से 300 लोगो का कोल भी आया जो इनकी ये सेवा लेना चाहते थे। जावेद का कहना है कि इन लोगो मे ज्यादयर लोग बुजुर्ग थे।आसिया और जावेद का कहना है कि लोक डाउन खत्म होने के बाद भी हम सभी की मदद करने के लिए तैयार है और जरूरतमंदों तक पार्सल पहुचाएंगे।

हमारे रहते हुए हम किसी को भू’खा नही रहने देंगे।कोरोना संक्रमण खत्म होने के बाद भी हम उनसे पूछेगे की क्या उन्हें मदद चाहिए।देश के मौजूदा हालातो के देखते हुए सर’कार भी आगे आई है। प्रशासन से लेकर कई समाज सेवी संस्थाओं ने गरीब और जरूरत मन्द लोगो की मदद की । कई देशों में लोक डाउन को ह’टा दिया गया है।

Leave a Comment

close