सलाम: दिल्ली एम्स में पहले डॉक्टर मोहमम्द फ़वाज़ ने दान दिया खून, फिर किया मरीज का ऑपरेशन

कोरो’ना वा’य’रस महा’मा’री के बीच कई तरह कब केस हमारे सामने आए है। ऐसे हा’लातो में ऐसे कई मा’मले भी सामने आए है जिन्होंने मिसाल कायम की है। को’रो’ना म’हा’मा’री के दौरान दिल्ली एम्स के एक डॉक्टर ने मिसा’ल कायम की है। मरी’ज की जा’न बचा’ने के लिए उनके जज्बे को सोशल मीडिया पर खूब तारीफ हो रही है। दिल्ली एम्स में पहुचे मरीज को तुरंत ही खू’न की जरूरत थी और ‘म’रीज के प’रिजन भी अस्प’ताल नही पहुचे थे।

डॉक्टर फवज को म’रीज का ऑपरेशन करना था। उन्होंने पहले मरीज को ब्ल’ड डोनेट किया और बाद में ऑप’रेशन किया। social मीडिया पर फवाज की तस्वीर वाय’रल हो रही है। दिल्ली ए’म्स के स’र्जरी विभाग में 24 साल के डॉक्ट’र फवाज तैनात है। 21 जुलाई को ए’म्स के सर्जरी विभाग में एक शख्स को भर्ती कराया गया था। बता दे कि शख्स बाए पैर में सं’क्रम’ण के का’रण से’प्टिक शॉक से पी’ड़ि”त है। उसे जल्द ही खू’न दिए जाने की जरूरत थी।

delhi aiims doctor fawaz

फवाज ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि म’री’ज अपनी पत्नी के साथ आया था जो ब्लड देने के लिए शा’र’रिक रुप से फि’ट नही थी। मैं म’री’ज को जल्द ही ऑप’रे’शन थ्रेट’र में ले जाना चाहता था और सनकर्मिट हिस्सो को निकालना चाहता था। ताकि मरी’ज की हाल’त को सही किया जा सके ।

इसलिये मैंने रक्त’दा’न करने और ब्ल’ड बैं’क से कुछ और यू’नि’ट खू’न लेने का फैसला किया। मरी’ज का ही’मोग्लो’बिन कम था।डॉक्ट’र फवाज का कहना है कि एक डॉक्ट’र के लिए मरी’जो की जा’न’ ब’चा’ना स’बसे अहम है। अ’स्पता’ल में जाने वाले रो’गी का सबसे अच्छे प्रया’सों से इ’लाज किया जाना चाहिए। इन दिनों अ’स्प’ताल में खू’न की कमी है इसलिए मैंने ही ब्ल’ड डो’ने’ट किया।

delhi aiims doctor fawaz

को’रो’ना वा’इर’स के इ’ला’ज के दौरान डॉक्ट’रों ने अपनी जा’न की परवाह किए बगैर मरीजो की जा’न बचाई है। कोरो’ना के लगातर केस बढ़ते जा रहे है ऐसे में कई राज्यो ने फिर से लोक डाउन लगा दिया है। महारष्ट्र, बिहार, यूपी में भी लोक डाउन जारी है।

Leave a Comment