इंडोनेशिया के मुहम्मदि’याह ने भारत के मु’स्लिमों के लिए उठाई आवाज़, बोले-दिल्ली के मु’स्लिमों से भे’दभाव..

देश की राजधानी में नाग’रिकता का’नून के खिलाफ 2 महीने से अधिक समय से प्रो’टेस्ट चल रहा है । बीते दिनों दिल्ली में नाग’रिकता का’नून के सम’र्थक और वि’रोधी आपने सा’मने आने के बाद हिं’सा की ख’बर सामने आई थी । दि’ल्ली हिं’सा में कई लोगो की मौ’त हो गई है, कई घा’यल बताए जा रहे है । दि’ल्ली’ हिं’सा पर मुस्लि’म दे’शों के संगठन OIC ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई तो पड़ोसी बांग्ला’देश , इंडो’नेशिया भी पी’छे न”ही रहे ।

यूएन ने भी इस मामले में संज्ञान लिया । बांग्लादेश में दिल्ली हिं’सा में मा’रे गए लोगों और मु’स्लिमों पर हुए हम’ले के वि’रोध में मार्च निकाला । भारत का बड़ा कारोबारी देश इंडोनेशिया और ईरान ने भी इस घ’टना पर ना’राजगी जाहि’र की है । विदेशी जानकर मान रहे है कि ये देश के लिए अच्छा संकेत नहीं है । इससे देश की अर्थव्यवस्था पर असर पड़ने से भी जोड़कर देखा जा रहा है।

इंडोनेशिया के दूसरे सबसे बड़े मु’स्लिम समूह, मुहम्मदियाह ने भारत की राजधानी में हुई धा’र्मिक हिं’सा पर अपनी निं’दा ‘ की है / अब्दुल ने जकार्ता रिपोर्ट को बताया है कि मुहम्म दियाह ने भारत’ सरकार के लोगो से खासकर मुसलमानों के खिलाफ किसी भी तरह के भे’द’भाव और हिंसा को रो कने का आग्रह करता हूं।

मुहम्मदियाह के महासचिव अब्दुल मुअति ने कहा है कि संग़ठन ने मु’सल’मानों के खि’लाफ सम्प्र’दायि’कता हिं’सा और ह’म’लों की निं’दा की है। इस हिंसा में करीब 50 लोगों की मौ’त हो गई है। 25 फरवरी से उत्तर पूर्व दिल्ली में एका एक हुई घटना से रहने वाले लोग अभी भी ड’रे हुए है । मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो यहाँ से लोग प’ला’यन कर रहे है । लोग अब यहां अपने ज’ले मका’न में बचे कुछ सा’मानों को।लेने आ रहे है ।

सा’माजिक कार्य’कर्ता , सरकार की ओर से लगे कैंपो में इन लोगों ने शरण ली हुई है । ऐसे मा”हौल में भी कई लोगो ने अपनी इंसा’नियत को बचाया है। किसी ने हि’न्दू समुदाए के लोगो की जा’न बचाई तो किसी ने मुस्लि’म प’रिवार के लोगो की। दिल्ली की गलि’यों में सुर’क्षाबलों की ओर से लगातार शां’ति बनाए रखने की अपील की जा रही है। दि’ल्ली के कई इला’कों में धा’रा 144 लगी हुई है।

Leave a Comment

close