पैसों की कमी के कारण Dilip Kumar सड़कों पर बेचा करते थे सैंडविच, इस महिला ने रातोंरात यूं बदल डाली किस्मत

मायानगरी मुम्बई लोगो के सपनो के लिए जानी जाती है। मुम्बई हिंदी सिनेमा की जान है। इस मायानगरी ने किस्मत से ज्यादा ही लोगो को दिया है और ऐसा नही है कि केवक पैसों से ही धनी ही लोगो ने यहां पर मुकाम को भी हासिल किया है। जबकि बेहद ही छोटे से गांव आए लोगो ने अपनी मेहनत से सिनेमा को वक्त के साथ नया मोड़ दिया है।

दिलीप कुमार का आज सुबह ही मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में निधन हो गया है। दिलीप कुमार के बारे में आज भी बहुत सारे राज ऐसे है जो आप नही जान्ते होंगे।आपको बता दे कि दिलीप कुमार अभिनेत बनने से पहले सेंडविच बेचा करते थे। दिलीप कुमार बहुत ही गरीब परिवार से ताल्लुक भी रखते है।

dilip kumar life struggle story

इसके साथ ही उनका यही सपना था कि वो एक्टर बने। दिलीप कुमार का अपने पिता से झगड़ा भी हो गया था इसके बाद वो पुणे चले गए। फिर वापस वो मुम्बई में आकर नॉकरी की तलाश भी करने लगे। काम की तलाश करते हुए अभिनेता दिलीप कुमार

जी की मुलाकात बॉम्बे टॉकीज की मलकिम देविका रानी से हुई। उन्हें देखते ही देविका ने उनकी फिल्मों में काम करने का सुझाव भी दिया। यह सुझाव दिलीप जी को काफी ज्यादा पसन्द भी आया। उन्हीने बहुत ही ज्यादा मेहनत भी की।

dilip kumar life struggle story

शुरुआती दौर में उनकव काफी ज्यादा असफ़लता का सामना भी करना पड़ा था। देखते ही देखते वो हिंदी सिनेमा जगत के चमकते सितारे भी बन गए। उनको काफ़ी नाम और शोहरत भी मिली और आज वो दिग्गज अभिनेता के लिए भी जाने जाते है।

Leave a Comment