सलाम: को’रोना म’रीजों का ईलाज कर घर लौटी डॉ अफजा तो हुआ फूल मालाओं से स्वागत, ऐसे को’रो’ना यो’द्धाओ को सलाम

को’रोना म’हा’मारी से लगभग पूरी दुनिया परे’शान हो चुकी है, इस महा;मा’री से अब तो लाखों लोगो की जान चुकी है तो वही कई देश इससे अभी भी बुरी तरह से जूझ रहे है । करो’ना म’हामा’री में जिन्होंने सबसे ज्यादा मुकाबला किया है वो डॉक्टर ही है जिन्होंने लाखों लोगों को नई जिंद’गियां दी है वही हज़ारों डॉक्टर भी इस महा’मारी की चपेट में आए और इनमें से कई डॉक्टरों को कोरोना के कारण जान भी ग”वा’नी पड़ी है ।

करोना महामारी के इस दौर में डॉक्टर्स और पु’लिस क’र्मी अपनी जा’न की बाजी लगाकर दुसरो लोगो की मदद कर रहे है। हमारे देश हो या फिर दूसरे देशों के अब तक को’रोना के संक्र’म’ण में आने से ना जाने कितने डॉक्ट’र्स की जा’न च’ल गई है ।इस मुश्किल वक्त में पुलिस और डॉक्टर्स ने मिलकर काम किया है वो दुनियाभर में एक मि’साल है।

ऐसे ही एक ख़बरसोशल मीडिया पर बहुत ते’जी से वा’यरल हो रही है। सहारनपुर की बेटी 32 दिनों के बाद कोरोना के मरीजो का इलाज करके अपने घर लौटी है । ये सोशल मीडिया पर छाई हुई है। लोगो ने इस बेटी का शुक्रिया अदा करके माला पहनाकर और फूलों की बारिश करके इसका स्वागत किया है।सहारनपुर के बड़े ही राजनीतिक परिवार माने जाने वाले मसूद परिवार की बेटी है।

इनका नाम अफजा मसूद है। यह इमरान मसूद के भाई नोमान मसूद की बेटी है।अफजमसुद की सोशल मीडिया पर तारीफे हो रही है। इससे पहले भी इस डॉक्टर बेटी का सोश’ल मी’डिया पर को;रो’ना के मरीजो का इलाज करते हुए एक फोटो वायरल हुआ था। इस बार वो 32 दिनों के बाद अपने माँ बाप से मिली तो इस बेटी के परिवा’रवालो की आंखों में खुशी के आं’सू थे। सभी लोगो ने भी हौसला अफ’जाई करते हुए स्वागत किया।

आपको बात दे कि अफ’जा शेख उल हिन्द मेडिकल कॉलेज में बतौर डॉक्टर अपनी सेवाएं दे रही है। डॉक्टर अफजा मसूद कोरोना के मरीजो का इला’ज करने के बाद 14दिन के लिए क्वोर/न्टीन में थी। जब वो घर आई तो ख़ु’शी के मा’रे लोग रो’ने लगे और उनका स्वागत भी किया गया ।

Leave a Comment

close