मलेशिया के पूर्व प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद बोले- मुस्लिम देश करें इसराइल पर कार्यवाही और एकजुट होकर दे ..

हाल के दिनों में फिलि’स्तीन और इ’जरा’इल के बीच हिं’स’क’ झ’ड़’प में 1000 से अधिक फि’लिस्ती’नी घा’य’ल हुए है इसके अलावा 100 से अधिक फिलि’स्ती’नियों के श’हीद होने की पुष्टि हुई है। इन सबके बीच मलेशि’या के पूर्व प्रधानमंत्री मोहम्मद महातिर ने फिलिस्तीन के गाजा और मस्जि’दे अ’क्सा में इजरा’इल ब’लों की

ओर से की जा रही का’र्यवा’ही के वि’रो’ध में कहा है कि मुस्लिम देश मि’लकर इज’राइ’ल’ पर अपनी सँ’युक्त का’र्यवाही कर सकते है। इसी से ही इस सम’स्या का स’मा’धान भी खो’जा जा सकता है। यह बात उन लोगो के लिए सबसे ज्यादा मह’त्वपूर्ण है जो उस समा’धान को प्राप्त करने के लिए एक उचित रणनी’ति के लिए

dr mahathir mohamad

फि’लि’स्तीनि’यों का स’म’र्थन भी करते है। उन्हीने अपने बयान मे आगे कहा है कि ल’ड़’ने के लिए या फिर बद’लालेने के लिए ल’ड़’ने से कुछ भी हा’सिल नही होता है।महाति’र ने खा’ड़ी देशों और फि’लि’स्ती’नी से इ’ज’राइ’ल के खि’ला’फ खड़े होने के लिए एक उचित रण’नीति के बारे मे सोचने के लिए एक उम्मी’द भी व्यक्त’ की है।

उन्होंने कहा मुझे इस बात की उम्मी’द है कि हाल के दिनों के लिए मुस्लिम दुनिया इसके लिए जागे’गी। ऐसा लगता है कि दुनि’या को लगता यह फि’लिस्ती’नी जो इज’राय’ल को भ’ड़’का रहे है लेकिन जैसा किआज जब फि’लिस्ती’न लोग म’स्जि’द में इबादत कर रहे थे,इज’रा’इलि’यों ने आ’क्र’म’ण करने और उन पर

dr mahathir mohamad

ह’म’ले करने का फैसला भी किया। 96 साल के महा’तिर मो’हम्मद ने आगे कहा कि फि’लि’स्ती’नी लोग अपनी इबा’दत कररहेथे। ऐसे में इज’राइ’ली सुर’क्षाब’लों के ह’म’ले का कोई मत’लब भी नही है।वो उनके लिए ख’त’रा नही है।

Leave a Comment