कोरोना का ईलाज खोजने का दावा करने वाला ये अरब देश ले सकता है बड़ा फैसला, होगा प्रवासी मजदूरों को फायदा, जानिए

देश वि’देश में इन दिनों को’रोना वा’इरस ने अपना आतंक मचाया हुआ है। जिसके चलते हुए लोग अपने अपने घ’रों में बं’द है । इसके चलते दुनिया के अधिक’तर देशो ने अपनी सीमाएं भी बन्द कर रखी है। दुबई में कई भा’रतीय फँसे हुए है जिनकी मदद के लिए भारतीय दूतावास लगातार काम कर रहे है।ख़बरो के मुताबिक, जल्द ही दु’बई में पर्य’टकों का स्वागत किया जाएगा। दुबई में पर्यट’कों के खोलने की योज’ना बनाई जा रही है।

जुलाई तक लोगो को आना जाना शुरू ही सकता है।इस बारे में बताते हुए दुबई के पर्यटक मंत्रालय ने बड़ी घोषणा की है । अल मैरि’ज ने कहा कि पर्यटन को खोलने के लिए तैयारी चल रही है। इसके लिए यह जरूरी है कि वैश्विक स्तर पर कैसे हालात है । अगर को’रोना के मामले बढ़ते नही है तो जल्द ही दुबई में पर्य’टकों का सिल’सिला जारी हो जाएगा। हालांकि पूरी तरह से खो’लने के लिए सि’तंबर तक का समय लग सकता है।

आपको बात दे कि दु’बई में हाल ही में दो जिलों से लो’क डाउ’न हटाया गया है। ये जिले सबसे व्यावसायिक आबादी वाले जिले है। उन जिलों में दो दिन तक एक भी को’रो’ना का माम’ला सामने नही आया है। इसी लिए नि’र्णय लिया गया है। बता दे कि दुबई अपने तेल के खजा’नों के अलावा भी पर्य’टक और व्या’पार की जरिये ही अपनी देश की अर्थव्य’वस्था को बनाए हुए रखता है । बीते दिनों से ही क’च्चे’ ते’ल में गि’रावट देखने को मिली है यह गिरावट इतनी थी कि पा’नी की बो’तले से भी कम हो गई।

दुबई में कोरोना संक्रमित व्यक्ति 10 हजार से ज्यादरहे है लेकिन अब कमी देखने को मिल रही है।दुनियाभर के कई देशों में लो’क डा’उन को ह’टा’या गया है। जहां पर पहले जैसी रौनके नजर आई है तो दूसरी और सो’शल डि’स्टें’डिंग का पालन किया जा रहा है। भारत के रेड जॉन इलाको में ऐसा नही हुआ है लेकिन ऑरेंज और ग्रीन जॉन के इला’कों में बाजा’र खुले हुए दिखाई दिए है।को’रो’ना की वजह से दुनिया’भर में लाखों लोगों की मौ’त हो गई है ।

Leave a Comment

close