दुबई : महिलाओं के लिए मस्जिदें दुबारा खुलीं, 2020 से ही कोविड के चलते थी रोक

इ’स्ला’म ध’र्म के लोगों के लिए एक इबा’दत करने के लिए मस्जि’द होती है। म’स्जिद में पुरु’ष नमाज पढ़ने के लिए जाते है और कई शहरों में महि’लाए भी मस्जि’द में न’माज पढ़ने के लिए जाती है। को’रोना वा’यरस की वजह से पिछले दो सालों से सभी धर्मिक’ स्थ’लों को बं’द किया गया है।

लेकिन बीते दिनों ही दुबई की मस्जि’दों को महि’लाओं की इबा’दत करने के लिए भी खो’ल’ दिया गया है। यह सेक्यु’कर दु’बई के इस्ला’मिक अफेयर्स एंड चेरिटे’बल एक्टि’विटीज डिपार्ट’मेंट की ओर से जारी किया गया है। इस सेक्यु’कर को रि’ओपनिंग ऑफ लेडीज प्रेयर होल्स इन द ऑल द

dubai opens mosque for women

मस्जि’दस ऑफ द ए’मिरेट ऑफ दु’बई शी’र्षकनके मुता’बिक ही जारी किया गया है।इस नियम में कहा गया है कि मस्जि’दों में काम करनेवालो से इस बात का आग्रह किया गया है. दुबई अमीरात में लेडीज प्रेयर हॉलस को बीते दिनों ही असर की नमा’ज स महि’लाओं के लिए भी खोल दी गई है

जारी किए गए कड़े निय’मो में कहा गया है इबादत की जगह पर जो नियम पुरु’षों के लिए है वही नि’यम महि’लाओं के लिए भी लागू होते है। मास्क पहनना अनिवार्य है। इसके अला’वा भी न’माज प’ढ़ने के लिए खुद की जा’नमाज ही साथ लेकर आनी है। इसके साथ सो’शल डिस्टेंस का भी पालन करे।

dubai opens mosque for women

बता दे कि महि’लाओं के लिए दुब’ई में इ’बादत गह पिछले साल मा’र्च के मही’ने से ही बं’द है। उस वक्त को’विड 19 के माम’ले लगा’तार बढ़ने की वजह से पुरुषों और महि’लाओं का सार्वजनि’क तौर पर इक्कठा होना भी नि’लंबि’त कर दिया गया था। हालांकि पु’रुष के लिए यह पिछले साल ही जु’लाई में सी’मित संख्या में खो’ल दी गई थी।

Leave a Comment

close