एर्दोगन ने खिलाफत-उस्मनिया को फिर से कायम करने के लिए उठाया दुनिया को हैरान कर देना वाला कदम,मुस्लिम देश बोले- ..

तुर्की के राष्ट्रपति की हर तरफ तारीफ हो रही है क्योंकि उन्होंने पिछले हफ्ते ही सफिया को एक म्यूजियम से मस्जिद बदलने का फैसला किया गया है । तुर्की कोर्ट ने भी कहा है कि सोफिया अब म्यूजियम नही रहेगा सोफिया को मस्जिद का दर्जा दिया जाएगा। तुर्की कोर्ट ने 1934 के कैबिनेट फैसले को भी रद्द के दिया है। तुर्की के राष्ट्रपति इंटर’नेशनल मीडिया पर सुर्खियों बटोर रहे है।

हगिया सोफिया के मस्जिद में तब्दील होने के बाद एर्दोगान ने मस्जिदे अक्सा को इज’राय’ल की गि’रफ्त से रिहाई की बात कही थी । और कहा है कि तुर्की जल्द ही अल अ’क्सा को रिहा कराएगा। इस कदम में ए’र्दोगान का पा’कि’स्तान और म’लेशिया ने भी समर्थन किया हैऔर इसे ख़िला’फ़ते उस्मा’निया का होने का पहला कदम बताया है।

erdogan al aqsa mosque plans

वही एर्दोगान ने 15 जुलाई को राष्ट्र के नाम सम्बोधित में कहा है कि 15 जुलाई 2016 की रात, फेतुल्ला आ’तंकवा’दी संग़’ठन ने इस स्वतंत्रता प्रेमी रा’ष्ट्र को झकझोरने की कोशिश की थी अल्ला’ह का शुक्र है कि वो नाका’म रहे। एर्दोगान ने कहा है कि अभी तुर्की समाप्त नही हुआ है इस राष्ट्र के पास कहने के लिए कई शब्द है, इनके अलावा भी कई परियोजना को लागू करने के लिए।

तुर्की राष्ट्रपति ने कहा है कि हगिया सोफिया में सभी ध’र्म वि’देशियों को जाने की अनुमति दी जाएगा। हगिया सोफिया के फैसले के आने के बाद तुर्की समेत कई मु’स्लिम देशों ने जश्न भी मनाया है। सोशल मीडिया पर हगिया सोफिया में अजान भी दी गई और नमाज भी हुई एक वीडियो काफी वायर’ल भी हुआ । बता दे कि हगिया सोफिया म’स्जिद में 24 जुलाई में नमा’ज अदा की गई । हगिया सोफिया का इतिहास काफी समय पुराना है।

erdogan al aqsa mosque plans

पहले इसे म्यूजियम बनाया गया बाद में सुल्तान ने इसको खरीदकर मस्जि’द में तब्दील कर दिया। इसके बाद विश्व यु’द्ध के समय तु’र्की को हा’र का सामना करना पड़ा था उस वक्त मस्जिद से म्यूजियम में तब्दील कर दिया गया। 1935 के बाद सोफिया को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया था। करीब 86 साल बाद हागिया सोफिया को मस्जिद का दर्जा दिया गया है।

Leave a Comment

close