करोना सं’कट: ए’र्दोगन ने फि’लिस्तीन की मदद के लिए आगे बढ़ाया कदम, उसके बनाए अ’स्पताल में होगा फ्री ईलाज और

को’रोना म’हामा’री को लेकर हर देश अपने अपने ना’गरिकों की मदद कर रहा है। को’रोना वाय’रस ने पूरी दुनिया को इसकी च’पेट में ले लिया है। दुनिया मे अब तक 19 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके है तो वही म’रने वालों का आंकड़ा भी 1 लाख पर कर गया है । इसी बीच अच्छी खबर है कि इसमें से 4 लाख से अधिक लोग जो क्रोना से पी’ड़ित थे वे ठीक होकर अपने अपने घर कोलॉट चुके है ।

भारत मे क्रो’ना पीड़ि’तों का आंकड़ा 9 हज़ार के पार कर गया है और मर’ने वालों की संख्या 300 के करीब हो चुकी है ।इस बीच तुर्की से बड़ी खबर सामने आई है । तुर्कि हमेशा से गरीब देशों के लिए सं’कट के समय आगे आता रहता है, पूरी दुनिया के गरीब मु’स्लिम देश उस ओर बड़ी उम्मीद से नजरें गड़ाए रहते है। चाहे वो अस’हाय मुस्लि’म उम्माह फिलिस्ती’न की हो , या सीरिया की वो सभी लोगो की मदद करते है और कर रहे है। ‘

हम सभी ये बात बहुत अच्छी तरह से जानते है कि तुर्की के राष्ट्रपति को सबसे अधिक पसन्द किए जाने वाले राष्ट्रपति माना जाता है। इस बार तुर्की ने जो किया वो सबसे अच्छी बात ये है कि जिसकी हम कल्पना भी नही कर सकते। उसने गा’जा में एक अस्पताल की स्थापना की है। जहाँ पर अस’हाय मु’स्लिम को’रोना महा’मारी से लड़ रहे है। जो कि दुनियाभर से कुल 1 मि’लिय’न को पार कर चुकी है।

तु’र्की के राष्ट्र’पति एर्दो’गान और गाजा के मह’मूद अबबस 180 बेड खोलने के लिए सहमत है। गा’जा प’ट्टी एक फि’लि’स्तीनी क्षेत्र है। यह मिस्र और इजरायल के मध्य भूमध्यसागरीय तट पर स्थित है। फि’लि’स्तीनी सरकार के प्रवक्ता मेलहेम ने मीडिया के हवाले से बताया है कि तुर्की के राष्ट्र’पति और गा’जा के मह’मूद अबबस ने टेलीफोन से बात की है जिसमे कहा गया है कि रो’गियों के इलाज शुरू करने पर सहमति व्यक्त की है।

बता दे, फिलि’स्तीन में अब तक 200 मामले सामने आए है। गा’जा प’ट्टी में अब तक 10 मामले सामने आए है। गाजा पट्टी में चिकित्सा सहायता की कमी हो गई है इसलिए तुर्की ने अपना स्वयं का सेटअप अ’स्पताल शुरू करने की योजना बनाई है। जो तुर्की द्वारा वित्त पोषित पूरे फि’लिस्ती’न के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक है।

बता दे कि बीते दिनों ही अमे’रिका के राष्ट्र’पति डोना’ल्ड ट्रम्प ने तु’र्की को एक लि’स्ट बना कर दी थी । अमेरिका तुर्की से सामान खरीदना चाहता है।तु’र्की ने इस बात पर भी अपनी सहम’ति जताई है। तुर्की की मीडिया ने बताया था कि ”सरकार के पास 93 देशो से इस बात के लिए रिक्वेस्ट आ रही है। जिनमे से 32 देशो को मदद करने के लिए तुर्की सर’कार पूरी तरह से तैयार है।

Leave a Comment

close