मुस्लिम दुनिया के बदलते हालात, 8 साल बाद तुर्की का प्रतिनिधित्व मंडल पहुँचा मिस्र, दोनों देशों ने कहा- अब बदलेगा …

तु’र्की और मि’स्र के बीच रिश्ते सही होने की भी उम्मीद है। दोनों देशों के बीच स’म्बन्ध बहा’ल करने के प्र’या’सों के तहत 8 सालों में पहलीं बार तु’र्की प्रति’नि धि’मंडल आधि’कारिक यात्रा पर मिस्र भी गए है।यह यात्रा मिस्र की राज’धानी में तना’वपू’र्ण सम्बं’धो को सुधा’रने के लिए सा’मान्य स’म्बंधो को

बहा’ल करने के लिए दो दिनों के रा’जनी’तिक परा’मर्श की शुरुआत है। दोनों देशों का उद्देश्य आर्थि’क सम्बं’धो को सुधा’रना भी है। मिस्र के राष्ट्रपति मो’हम्मद मुर्सी को साल 2013 के त’ख्ताप’लट के बाद ह’टा’ए जा’ने से भी काहिरा और अंकारा के बीच स’म्बं’धो को त’ना’वपूर्व भी बना दिया है।

first turkish delegation

जिसे तु’र्की के राष्ट्र’पति ने भी खा’रिज कर दिया था। दोनों देशों के नेता भी समुद्री दावों को लेकर भी भीड़ गए है। हा’लांकि अब एर्दो’गान ने कहा है कि वह भूमध्य’सागर में स’मुद्री पर मि’स्र के साथ एक समझौते पर हमला करने के भी उम्मीद है। हाल ही में तु’र्की ने इ’स्तंबूल में टीवी स्टेशनों

को बं’द करने केलिए भी कदम उठाए है। जो मिस्र के प्र’शसन के अनुरो’ध के बाद निय’मित रूप से मिस्र के विपक्ष के सदस्यों की भी मेज’बानी करता है।बता दे कि तु’र्की में मिस्र के वि’रो’ध के कई सद’स्यों को भी चिं’ता है कि वो त’ख्ता’पलट के नेता राष्ट्रप’ति अब्देह फतेह अल सीसी के शासन के बारे में स्व’तंत्र रुप से

first turkish delegation

बो’लने के अधि’कर को भी खो दिया है। तु’र्की की ना’गरिकता के बिना ही उन लोगो को दे’श छो’ड़ने के लिए कहा जा सकता है। अप्रै’ल के महीने में ही मिस्र के टीवी होस्ट मो’तज मायर ने घोषणा की है कि तु’र्की में प्रसारित होने वाले अल शरक चेनल पर उनके कार्यक्रम को नि’लं’बित कर दिया गया था।

Leave a Comment