फवाद मिर्जा ने घुड़सवारी में 20 साल बाद रचा था इतिहास, अब टोक्यो ओलम्पिक में मचाया धमाल, भारत को …

पहली बार ओलंपिक खेलों में चुनौती पेश कर रहे भारतीय घुड़सवार फवाद मिर्जा ने अच्छी शुरुआत की है और शुक्रवार को इवेंटिंग स्पर्धा में ड्रेसेज दौर के बाद तालिका में वह संयुक्त रूप से सातवें स्थान पर हैं। पहली बार ओलम्पिक खेलो में चुनौती पेश कर रहे भारतीय घुड़सवार फवाद मिर्जा अच्छी शुरुआत करते हुए अगले राउंड में प्रवेश कर लिया है।

उन्होंने इस ईवेंटिंग स्पर्धा में ड्रेसेस दौर में सांतवे नंबर पर रहकर अगले दौर में प्रवेश कर लिया है। जापान की राजधानी टोक्यो में ओलम्पिक़ खेलो का आगाज़ होने के बाद से भारत को 3 पदक पक्के हो गए गए। इस ओलंपिक खेलों में कई देशों के ख़िलाडी भी शामिल हुए है। इसमें भारत के घुड़सवार फवाद मिर्जा ने एंट्री

fouaad mirza

लेकर न सिर्फ सभी को हैरान किया बल्कि देश का सम्मान भी बढ़ाया। भारतीय घुड़सवार फवाद मिर्जा के घोड़े सेगनूर मेडिकोट को बीते दिनों ही स्व’स्थ होने का प्रमाण पत्र मिला है। इस बात का निर्णय करने वाली समिति ने मिर्जा के घोड़े को इवेंटिंग प्रतियोगिता में हिस्सा लेने की भी स्वीकृति दे दी है।

जिसका आयोजन बीते दिनों से ही शुरु हो गया है और सोमवार तक चलेगा। फवाद मिर्जा का समर्थन करने वाली एम्बेसी ग्रुप ने बयान में कहा है कि सेग नुएर मेडिकोट स्वस्थ होने का प्रमाण भी मिला है और उन्हीने जरूरी पात्रता पूरी भी कर ली है।

fouaad mirza

बयान के मुताबिक बताया गया है कि घोड़े का निरीक्षण होने के बाद मिर्जा और सेज नुएर मेडिकोट से 30 जुलाई से 2 अगस्त के बीच होने वाली आगामी स्पर्धा में भी हिस्सा लेंगे। बता दे कि जज समिति किसी भी घुड़सवारी स्पर्धा से पहले घोड़े का निरीक्षण भी करती है। जिससे कि इस बात का

सुनिश्चित हो सके कि घोड़ा आगामी प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए भी फिट है।अगर घो’ड़ा बीमा’र या चो’टिल हो जाता है तोउसे भविष्य की स्पर्धाओं में हिस्सा लेने से बाहर भी कर दिया गया है। इसी घोड़े के साथ उन्हीने साल 2018 में एशियई

fouaad mirza

खेलो में दो रजक पदक भी जीते है। मिर्जा ने पहले ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि वह टोक्यो ओलंपिक में खेलो में दजरा 4 के साथ उतरेंगे लेकिन बाद में उन्होंने अपना फैसला बदल भी दिया है।

Leave a Comment