एर्दोगन के मस्जिद वाले फैसले पर ग्रीस ने उठाए सवाल तो बोला तुर्की- पहले मुुसलमानों की रक्षा करें,उन्हें हक दे तभी …

हगिया सोफिया के मस्जिद में बदलने के बाद तुर्की और अन्य च’र्चो को भी मस्जि’द में बदलने का इंतजाम तुर्की सदर एर्दोगान के हाथों से हो रहा है। एर्दोगा’न ने ऐतिहासक चो’रा च’र्च को शुक्रवार को ही मस्जि’द में बदलने का फैसला कर दिया है। यह कदम ह’गिया को बदलने के बाद उठाया गया है। तुर्की विदेश मंत्रालय के प्रवक्ताहामी ओकसी ने एक बयान में कहा है कि हगिया सोफिया ग्रेंड मस्जिद हमारी भूमि पर थी

और अन्य चोरा मस्जि’द भी तुर्की की है , यह हमारी ही सम्पति है। पर्वकतक़ ने यह भी कहा है कि ग्रीस, जिसने मस्जिद को चर्चो में बदल दिया है, जिसे अन्य धर्मों के सम्मान के बारे में भी कुछ कहना चाहिए। आगे कहा है कि ग्रीस, जो अपने देश मे तुर्की के अल्पसं’ख्यक के मानवाधिकार और आजादी को रोके हुए है।

greece news

अपने ऐतिहासिक परिसरों के साथ क्षेत्र में झूठे बातें बनने केप्रयास को विफल करने के लिए बर्बा’द किया गया है हम ग्रीस को अपने इतिहास के साथ ही शांति बंनाने और मुसल’मानों को अपने देश मे पूजा करने के लिए आवश्यक सुविधाए प्रदान करने के लिए एक बार फिर आमंत्रित करते है।

पिछके साल ही अदा’लत ने चोराचर्च को म्यू;जियम में बदलने वाले 1945 के सरकारी फैसले को भी खारिज कर दिया था। एर्दोगान द्वारा हस्ताक्ष’रित और तुर्की के आधि;कारिक राजपत्र में घोषण की गई है कि मस्जिद को इबादत के लिए खोल दिया जाएगा। इस आदेश में इन बात को नही बताया है कि नमाज कब अदा की जाएगी।

greece news

बता दे कि यह संग्रहालय 1,000 साल पुराना है और पहले यह बीजा;न्टिन ग्रीक आ’र्थोडॉक्स चर्च था। ओटो’मन सम्राज्य द्वारा इस्तंबूल ओर 1453 में विजय पाने के बाद यह कारी म”स्जिद में परिवर्तित हो गया था फिर दिव्तीय वि’श्व यु’द्ध के बाद यह कारी संग्रहालय में बदल दिया गया। ग्रीस समेत कई देशों ने इस निर्णय की निंदा की है। ग्रीस के विदेश मंत्री ने एर्दोगान के इस फैसले की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि विश्व धरोहरों पर ये क्रू’रता की कार्य’वाही है।

Leave a Comment