हागिया सोफिया का मस्जिद में बदलना मस्जिद-अल-अक़्सा को आज़ाद कराने की ओर पहला कदम- एर्दोगन

तुर्की के राष्ट्रपति ने हगि’या सोफि’या पर अपनी जीत दर्ज कर ली है। हगिया सोफि’या को अब म्यूजिय’म नही बल्कि मस्जि’द का दर्जा दिया जाएगा। हगिया सोफिया पहले म्यूजिय’म, फिर मस्जि’द में तब्दील हुई और अब मस्जिद में तब्दील कर दिया गया है।तुर्की के अदा’लत ने इस फैसले को स्वीकार भी कर लिया है कि वह पर अब म्यूजियम नही मस्जिद होगी। तुर्की के लोगो के लिए बहुत बड़ी जीत रही है सभी लोगो ने खुलकर जश्न भी मनाया है।

इतना ही नही वहां ओर नमा’ज भी अदा की गई है। तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा है कि 24 जुलाई शुक्रवार से न’माज अदा की जाएगी। एर्दोगा’न ने कहा है कि सोफिया के दरवाजे स्थानी’य लोगो और विदेशि’यों, मुसलमा’नों और गैर मुस्लि’मो के लिए खुले रहेंगे।एर्दोगा’न ने राज्य परिषद के इस निर्णय के बाद अपने राष्ट्र को सम्बोधित किया है।

hagia sofia into a mosque is a sign of al aqsa mosque free

उन्होंने कहा है कि ये मुसलमा’नों की विरासत है सोफि’या सभी को गले लगाएगी। उन्होंने अपना भाषण पूरा करते हुए कहा है कि हगिया सोफि’या के पुव’र्जन्म ने अल अक्से मस्जि’द का संके’त दिया गया है। ए’र्दोगान ने याद दिलाया है कि सम्राट जस्टियीयन ने सन 532 में एक चर्च का निर्माण किया था।

उन दिनों इस्तंबूल को कुस्तुन्तुनिया के नाम से जाना जाता था।1453 में इ’स्ला’म ध’र्म को मानने वाले ख़िलाफ़’ते उ’स्मानिया के सुल्तान ने आदेश दिया कि चर्च को बदलकर मस्जिद बनाई जाए। तुर्की की हार के बाद प्रथम विश्व यु’द्ब 1934 मे इस मस्जिद को म्यूजियम बंनाने का फैसला किया गया।1935 में इसे आम जनता के लिए खोल दिया गया।

Leave a Comment

close