सऊदी अरब ने ह’ज़ 2020 के लिए किया फ़ीस का ऐलान, भारतीय हा’जियों को चुकानी होगी इतनी ज्यादा रकम

सऊ’दी अ’रब से रही ऐसी खबर जो कम से कम भारत के मु’सलमानों के लिए अच्छी नही कही जा रही हैं। ध्यान देने वाली बात यह है कि भारत से हज यात्रा पर सऊदी अरब जाने वाले मुस’लमानों को अब ज्यादा पैसे भरने होंगे। स’ऊदी अरब के इस फैसले से गरीब मु’सलमान हज से और ज्यादा दूर हो जाएगा। भारत के लिए इसलिए क्योंकि यहां पर ‘बेरो’जगारी और महंगाई बहुत ही ज्यादा है।

कभी तो प्याज महंगा तो कभी टमाटर पर म’हंगाई की चर्चा होती है। मुस्लिम समुदाय में हज करना लाजमी होता है। हज सालभर में होता है। सऊदी अरब में स्थित मक्का शरीफ , मदीना शरीफ और जगहों की इबादत और ज्यारत की जाती है।हर साल लाखों की तादात में हाजी हज करने के लिए जाते है। ह’ज करने के लिए फीस दी जाती है।

बता दे कि इस साल से स’ऊदी अरब ने ह’ज और वि’जा के लिए नई फीस का एलान कर दिया है। जो इस साल से लागू होगी।मु’स्लिम दुनि’या के जरियो को एजेंसियों द्वारा वसूल की जाने वाली फीस के अलावा भी 80 डॉलर का भुगतान करना होगा।इस पर मलेशिया के मंत्री ने नई फीस के बारे में जानकारी देते हुए कहा इस साल ह’ज सीजन में नई फीस देनी होगी।

जो सभी हाजियों पर लागू है।आपको बता दे कि स’ऊदी अ’रब की ओर से जानकारी म’लेशिया के साथ हा’जियों के आगमन और उनके प्रवास के दौरान प्रदान की जाने वाली सेवाओ के प्र’बंधन की व्यवस्था के लिए एक समझौते पर हस्ता’क्षर किए जाने के दौरान दी गई।

स’ऊदी अ’रब की हज वीजा पर नई फीस के ऐलान के साथ भी भा’रतीय हा’जियों को अतिरिक्त 5696.36 रुपये चुकाने होंगे। इससे पहले भी उ’मराह के लिए बी’मा अनिवार्य किया गया था। रावा ने कहा है रिया’द बार बार हा’जियों पर लगाए गए शुल्क को ख’त्म कर देगा।

Leave a Comment

close