6 महिने बाद दिखा हजरत निजामुद्दीन दरगाह में ये खुबसूूरत नजारा, आम लोगों के लिए …

को’रो’ना वाय’र’स की वजह से दुनियाभर में एक दौर ऐसा भी आया है जब सभी तरह की गतिवि’धि’यों पर रो’क लगा दी गई लोगो को आ’वा’जाही पर भी रो’क लगा दी गई इसके अलावा सभी लोगो से अपने अपने घरों पे रहने की सलाह दी गई। ऐसे हालातो में सिर्फ पुलिस, स्वास्थ्य कर्मचा’रियों और डॉ’क्टरों ने सभी लोगो की मदद भी की ओर कई लोगो की जा’न भी ब’चा’ई है। को’रो’ना वा’इरस की वजह सेसभी तरह की धा’र्मि’क स्थ’लों पर जाने पर रो’क लगाई गई थी।

दिल्ली की हजरत निजामुद्दीन दरगाह एक बार फिर रवि’वार को आम जनता के लिए खोल दी गई है। दर’गा’ह में आने वाले लोगो को सोशल डिस्टें’टिंग, मा’स्क लगाना अ’निवा’र्य है। इसके लिए जगह जगह पर निशान भी बनाए गए है। इसके अलावा लोगो के लिए सेने’टाइ’जर भी रखे गए है।बता दे , मार्च के महिने में तब्ली’गी ज’मात के मुख्या’लय से को’रोना के कई मामले सा’मने भी आए थे।

Hazrat Nizamuddin Aulia Dargah

इसी वजह से दरगाह का आसपास का क्षेत्र कंटेन्में’ट जॉन में रखा गया था। इसे द’रगाह को भी ब’न्द कर दिया गया था । अब करीब 6 महिने बाद दर’गाह एक बार आम जनता के लिए खोल दी गई है। यहां आने वालो को करीब 6 फिट की दूरी रखनी होगी और दरगाह में सिर्फ 15 मिनट से ज्यादा देर रुकने की इजा’जत नही है।

दरगाह में किसी को भी बेग या फिर कोई सामान ले जाने की अनुम’ति नही होगी। इसके अलावा भी दरगाह में किसी को भी बैठने के इजाजत भी नही है। दरगाह में कई तरह के आयोजनों का भी प्रोग्राम होता था। हर दिन या फिर हर गुरुवार को कव्वाली का भी प्रोग्राम होता था ।लेकिन मौजूदा हाला’तो को देखते हुए इस तरह की विशेष कार्यक्रमों पर भी रोक लगी हुई है।

Hazrat Nizamuddin Aulia Dargah

अगर किसी व्यक्ति को जुका’म , खा’सी या फिर बुखार के लक्षण पाए गए तो उसको द’रगाह में जाने की इ’जाजत नही दी जाएगी।हजरत निजामुद्दीन दरगाह पर हर रोज हजारो लोग आते है और दर’गाह में जाकर अपनी तमन्ना को पूरा करते है। हजरत निजामुद्दीन दरगाह का निर्माण मुहम्मद बिन तु’गलक ने इसका निर्माण करवाया था।’

Leave a Comment