8 किलोमीटर पैदल स्कूल जाती थी सीरत फातिमा, प्राइमरी टीचर से IAS बन रचा इतिहास, पिता हुए भावुक बोले- सब हम जमीन से आसमान …

हर सफलता की कहानी में कही न कही परेशानी तो सामने आती है लेकिन अगर इंसान अपना हौसले और हिम्मत से यह काम करसके तो कोई बड़ी बात भी नही होती है। ऐसे ही कर दिखाया है प्राइमरी स्कूल की टीचर रही सीरत फातिमा ने स्कूल में पढ़ाने के साथ साथ ही अपने मेहनत और तैयारी से IAS जैसी कठिन परीक्षा को भी पास किया है।

घर सेहर दिन 30 किलोमीटर बस और 8 किलोमीटर पैदल चलकर वो स्कूल भी पहुँचती थी। साल 2017 मेंUPSC को क्लियर करने वाले सीरत फातिमा वर्तमान मेंइंडियन एंड ट्रैफिक सर्विस में तैनात है। IAS सीरत फातिमा ने अपना करियर की शुरुआत प्राइमरी सेशूरु भी की थी। दो साल पहले उन्होंने चौथे अटेंप्ट में 810 वी रेंक को भी हासिल किया था।

ias seerat

उनके पिता पेशे से पटवारी है। उनके पिता की यही ख्वाइश थी कि उनकीबेटी कोई अफसर बने।बस में जाते वक्त भी सीरत पढ़ाई को जारी रखती थी। उन्होंने 3 बार upsc की परीक्षा दी जिसमे उनका सलेक्शन नही हो सका। घरवालो नेलगातर तीसरे अटेंप्ट में भी फेल होनेके बाद उन पर शादी का दबाव भी डाला।

उनकी शादी भी हुई। 2017 मै इलाहाबाद हाईकोर्ट में RO के।पद पर तैनात आदिल के साथ उनकी शादी भी हुई। इसदौरान उन्हीने अपनी पढ़ाई को भी जारी रखा। उन्होंने साल 2017 में इस परीक्षा को पास भी किया। आज बड़े पद पर नोकरी भी कर रही है।

ias seerat

उनकी इस सफलता के बाद उनके पिता को ऐसा महसूस हुआ कि जैसे उनकी बेटी नही बल्कि वो खुद अफसर बने है। उनकेपास कई बड़े बड़े अफसरों के फ़ोन भी आने लगे। कहते है अगर इंसान डट जाए तो वो बड़ी से बड़ी सफलता को पार कर सकता है।

Leave a Comment