रिक्शा चालक के बेटे ने रचा इतिहास, तनवीर अहमद ने IES 2020 में हासिल की दूसरी रैंक, जानिए अभावों के बीच कैसे चमका सितारा

द’क्षिण क’श्मी’र का कुलगाम जिला अक्सर ही गलत खबरों की व’जह से सु’र्खियों में रहता है। लेकिन आज दक्षिण कश्मीर के इस इलाके से ऐसी खबर भी सामने आई है कि जिसने इस इला’के का नाम पूरे प्रदे’श और दुनिया मे भी रोशन कर दिया है। कुलगाम के रहने वाले एक युवा ने भारती’य आ’र्थिक सेवा में दूसरी रैंक को हा’सिल किया है।

यह उपलब्धी को हासिल करने वाले वह जम्मू क’श्मीर का पहला रेजिडेंट भी बन गया है। अशां’त और उ’ग्रवा’द प्र’भा”वि’त कुल’गाम जिले के सुदूरवर्ती गांव नगीन पुरा कुंड के 22 वर्षीय तनवीर अहमद खान ने अपने पहले प्रयास में इस मुकाम को हासिल किया है। तनवीर ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा एक स्थानीय सर’कारी स्कूल से की है।

IES 2020 TANVIR AHMAD

उन्हों ने स्नातक की पढ़ाई पूरी करबे के लिए अंतर्गत के गवर्मेंट कॉलेज से हासिल की है। इसके बाद उन्होंने क’श्मी’र यूनिव’र्सिटी से अर्थशास्त्र के क्षेत्र में पोस्ट ग्रेजुएशन भी किया है। कोलकाता में उन्हीने हाल ही में डेवलपमेंट स्टडी में एम फील की डिग्री पूरी की। तनवीर खान ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि मेरे एम फिल के दौरानही मुझे इस परीक्षा के बारे में पता चला

और मैने इसकी तैयारी को भी शुरू कर दिया। आज मैंने इस उपल’ब्धि को हासिल भी किया है। तनवीर खान के उ’पराज्यपाल मनोज सिंह ने भी उनकी सराहना की है। एलजी सिन्हा ने अपने आधि’कारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट करते हुए लिखा है किदक्षिण क’श्मीर जिले के निगोन पोरा कुंड क्षेत्र के निवासी

IES 2020 TANVIR AHMAD

तनवीर अहमद को बहुत सारी बधाई हो। तनवीर भी अपनी कामयाबी पर बहुत ही ज्यादा खुश है और उन्होंने सरकार से इस बात की गुहार लगाई है कि उनके गांव में आज भी इंटरनेट की सुविधा नही है। सरकार हमारे गांव में ऐसी सुविधाओ को शुरू करे

Leave a Comment