अयोध्या पर नेपाल प्रधानमंत्री ओली के बयान पर भड़के इक़बाल अंसारी,बोले- नेपाल नक़्शे से गायब हो जाऐगा क्योकि …

नेपाल के पीएम ओली के बयान के बाद अ’योध्या के मु’स्लिम समाज के लोगों ने ना’राज’गी व्यक्त करते हुए बड़ा बयान दिया है। बा’बरी म’स्जि’द के प’क्षकार रहे इ’क़बाल अंसा’री ने नेपाल के पीएम को जवाब देते हुए कहा है कि रा’म के सेवक ह’नुमा’न जी को अगर गु’स्सा आया तो ने’पाल न’क्शे से गा’यब हो जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए होगा क्योंकि अ’योध्या में भ’गवान रा’म विराज’मा’न है।

उन्होंने आगे कहा कि अयो’ध्या की इ’ज़्ज़त सारी दुनिया करती है, ये आज से नही काफी समय पहले से चला आ रहा है । इक़बाल ने अ’योध्या को मज़हब की नगरी बताते हुए कहा कि यह पर सभी दे’वी देव’ताए विरा’ज’मान है । अंसारी ने ये भी कहा कि अ’योध्या की अहमियत नेपाल के पीएम नही जानते है। देश मे अ’यो’ध्या वि’वा’द का फैसला काफी समय पुराना है।

ikbal-ansari and Nepal pm olis statement

लंबे समय के बाद अ’यो’ध्या वि’वा’द का फैसला 9 नवम्बर 2019 को आया था। इस फैसले में रा’मल’ला का ह’क माना गया था इसके साथ ही मु’स्लि’म प’क्ष को अलग से ज’मी’न देने का आदेश दिया गया था। इस ‘फै’सले को लेकर कई दिनों तक वि’वा’द भी रहा है और ने’पाल की तरफ से जो बयान आया है उससे प्रतीत होता है कि ये वि’वा’द आगे भी ओर ब’ढ़ सकता है ।

‘अ’यो’ध्या में स्थित भग’वान’ रा’म’ को लेकर ने’पाल के प्र’धा’न’मंत्री के’पी शर्मा ने हाल ही में कहा है कि रा’म का जन्म ने’पाल में हुआ था । उनके इस बयान के बाद अ’यो’ध्या मु’द्दा’ फिर से चर्चा में आ गया है । उन्होंने कहा है कि अ’स’ली अ’यो’ध्या भारत मे नही है बल्कि ने’पाल के बी’रगंज में स्थित है। उन्होंने भा’रत पर आ’रोप लगाते हुए कहा है कि भा’रत ने सां’स्कृति’क अति’क्र’म’ण के लिए निकली अ’यो’ध्या का नि’र्मा’ण कर दिया है।

ikbal-ansari and Nepal pm olis statement

इस बयान को लेकर नेपाल सर’कार ने इस बात और सफाई पेश करते हुए कहा है कि प्र’धान’मंत्री ओ’ली का बयान किसी भी राज’नी’ति’क से जुड़ा हुआ नही है और उनका इरादा किसी को भी ठे’स पहुचाने वाला नही है। बता दे कि ओ’ली के इस बयान को लेकर भारत मे आ’लो’च’ना की जा रही है। इतना ही नही ने’पा’ल के वि’दे’श मं’त्री की तरफ से कहा गया है कि इस बया’न से किसी की भा’व’ना को ठे’स प’ह”चा’ना न’ही है ।ओ’ली ने आगे कहा है कि भग’वा’न रा’म ने’पा’ली है न कि भा’रत।

ने’पाल के प्रधा’न’मंत्री ने अपने निवा’स पर आयो’जिय कार्य’क्रम में कहा है कि भार’त ने न’कली अयो’ध्या को दुनिया मे सामने रखकर ने’पा’ल की सां’स्कृ’ति’क त’थ्यों को ठे’स प’हु’चा’ई जा रही है। उन्होंने दावा किया है कि हमने भारत मे स्थित अ’यो’ध्या के राज’कुमार को दी थी। बल्कि नेपा’ल के अ’यो’ध्या रा’ज’कु’मार को दी थी। ‘अ’यो’ध्या एक गांव है जो ‘बी’र’गंज के थो’ड़ा पश्चि’म में स्थिर है। ओ’ली ने त’र्क दिया है कि अगर भा’रत मे स्थित अ’यो’ध्या सही है तो वहां से रा’जकु’मार शा’दी के लिए जनक’पुर कैसे आ सकते है।

ikbal-ansari and Nepal pm olis statement

ओली का ये बयान ऐसे वक्त में आया है जब दोनों देशों के बीच वि’वा’द चल रहा है।ने’पाल’ ने हाल ही में अपना नक्शा को जारी किया है जिंसमे लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियधुरा को नेपाल का हि’स्सा बताया जाता है। बता दे, ने’पाल ने न’क्शे को उनकी संस’द में भी पेश किया था । नेपा’ल इन तीनो जिलों के कुछ हि’स्सों अपना दावा जरूर करता है लेकिन ये भारत के क’ब्जे में है और ये उ’त्तराखंड, यूपी राज्य में आते है।

Leave a Comment

close