ब्रिटेन के इमाम को मिला सबसे बड़ा सम्मान, प्रिंस ने बहादुरी के लिए सर्वोच्य ब्रिटिश सम्मान से नवाज़ा

पूर्वी ब्रिटेन के व्हाइट चेपल इलाके की म’स्जिद से नमा”ज पढ़ कर बाहर निकल रहे थे। तभी ‘नमा”जियों पर गा”ड़ी कुच”लने के आरो”पी श्वे”त दक्षि”णपंथी को नारा”ज भीड़ से बचाने वाले इमाम मोहमद महमूद को उनके बहादुरी ओर मानवीयता भरे का’रनामे की वजह से प्रिं”स विलि’यम ने ब्रिटेन के दूसरे सर्वोच्च सम्मान, आर्डर ऑफ द ब्रिटिश , OBE से सम्मानित किया गया है।

आपको बता दे, जून 2017 को एक श्वेत दक्षिणपंथी हम’ला’वर डैरेन ओ”सबोर्न ने फि,न्सबरी पार्क म,स्जिद से न”माज पड़कर बाहर निकल रहे थे । तभी उसने नमा’जियों पर अपनी गा”ड़ी चढ़ा दी थी। जिससे एक व्यक्ति मु”कर्रम अ”ली की मौ”त हो गई थी। जिसमे 9 लोग घायल हुए थे। इनको यह सम्मान मार्च 2019 को दिया गया था।

प्रिंस विलियम, जिनकी पदवी ड्यूक ऑफ कैम्ब्रिज है। बरकिंगम पैलेस में इमा”म मोह”म्मद को सम्मानित किया गया था। इसकी सूचना एक वी’डियो के जरिए ट्वीट कर भी गई थी। इ’माम मोहम्म’द ने कहा कि” हीरो वो होते है असाधारण काम करते है वो कर्तव्य सीमा से परे जाते है, जबकि मैने उस रात जो किया वो हमारी म’स्जिद इंसा’नि”यत, सामा’जिक सम’रसता के लिए साधा’रण ही था।”

उन्होंने आगे कहा कि उस वक्त ये हमारा कर्त’व्य था जो भी हुआ हम उस स्थि’ति को का’बू कर , लोगो को शां’त करे । इसमें ह’म’ला करना ठीक नही है।उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि मु’सल’मानों के बारे में ब्रि’टि’श जनता अभी भी अन’जान है की हम मुस’ल’मान भी आम ना’गरि’कों की तरह ही सामान्य है, हमारे हित लगभग सभी के हि’तों की तरह ही समान है। मोह’म्मद ने कहा कि मैने जो किया वो एक इंसा’न के लिए और देश के का”नून और व्यवस्था का सम्मान करता है।

Leave a Comment

close