भारतीय क्रिकेट टीम के भ’विष्य है ये पांच मु’स्लि’म खि’ला’ड़ी , नं. वन है रन म’शी’न और ..

भारत के पांच खि’लाड़ी जो भ’विष्य में भारतीय क्रिकेट टीम का हिस्सा बन सकते है आइये , इन पांच खिलाड़ियों के बारे में जानते है। अ’र’मा’न जा’फर – व’सीम जा’फर के बेटे अ’रमान जा’फर ने फस्ट क्लास क्रिकेट में लगातार बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इस खिलाड़ी ने अभी तक तो आईपीएल के शुरुआत नही की है हालांकि यह खिलाड़ी किंग्स पंजाब का हिस्सा रह चुका है। भारत की घरेलू क्रिकेट में अ’रमान जफर को ‘भा’रतीय टीम की दि’वार’ के नाम से भी जाना जाता है।

उन्होंने मुंबई की ओर कूच विहार अंडर नाइन टीन में लगातार तीन दोहरे सहित चार शतक लगाकर इतिहास रचा था। इससे पहले अरमान जाफर ने 2010 में रिज़वी स्प्रिंगफील्ड स्कूल की ओर से खेलते हुए 498 रन बनाए थे। तनवीर उल हक – यह खिलाड़ी के एक्शन को लेकर खूब चर्चा ही रही है। इनका एक्शन जेम्स एंडरसन से मिलता जुलता है इस गेंदबाज को चंबल के जेम्स एंडरसन कहा जाता है।

यह खिलाडी पूर्व में बहुत गरीब रहा है ,एक समय में इनके पास सफ़ेद जर्सी खरीदने के लिए पैसे नहीं थे। यह खिलाडी मैदान पर अपने पिता का पायजामा पहनकर आ गया था ,तब इनके साथी खिलाड़ियों ने इनकी गरीबी का मजाक उड़ाया था। तनवीर ने क्रिकेट की दुनिया में अपनी पहचान बनाकर उन सभी को मुहतोड़ जवाब दिया था। परवेज रसूल- कश्मीर का यह खिलाड़ी अपनी प्रतिभा के कारण हमेशा से चर्चा रहा है।

यह खिलाड़ी भारत की टीम में डेब्यू कर चुका है ,लेकिन आईपीएल में इनको ज्यादा मौका नहीं मिला है। यह खिलाड़ी अब तक ग्यारह आईपीएल मैच खेला है। अगले साल होने वाले आईपी एल में यह खिलाड़ी किसी भी टीम का हिस्सा रह सकता है। परवेज रसूल आल राउंडर खिलाडी है। वह दाए हाथ से ऑफ ब्रेक गेंदबाजी करते है , इसके साथ ही वह दाए हाथ के बल्लेबाज भी है। वह भारत के लिए अंतराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले पहले खिलाड़ी है।

फैज फजल – विदर्भ के इस खिलाड़ी ने फस्ट क्लास क्रिकेट में काफी अच्छी तरीके से प्रदर्शन दिखाया है। फजल बाए हाथ के बल्लेबाज है। पूर्व में फज़ल राजस्थान रॉयल की टीम में रहे है। लेकिन ज्यादा मौका नहीं मिलने के कारण अपनी प्रतिभा नहीं दिखा सके है। हैरान करने वाली बात यह है कि इतना अच्छा खिलाड़ी होने के बावजूद इन्हे आईपीएल में खरीदा नही जा रहा है।

मोहम्मद अजहरुद्दीन- आईपीएल 2020 में इस खिलाड़ी को खेलने का मौका मिल सकता है। आपको बता दे कि यह खिलाड़ी केरल की तरफ से विकेट कीपर बल्लेबाज है। 2015 में अज़हर ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में डेब्यू किया था। अज़हर भारत के पूर्व कप्तान अज़हरुद्दीन को अपना आदर्श मानते है। उन्होंने फर्स्ट क्लास में 50 से ज्यादा की औसत से रन बनाए है।

Leave a Comment

close