वैज्ञानिकों ने दी थी चेतावनी नहीं मानी सलाह, अब झेल रहे कोरोना का कहर, इन दो देशों में ….

भा’रत और ब्राजी’ल की सरकार ने को’रो’ना वाय’रस को लेकर दी गई वै’ज्ञानि’कों की सलाह को नही माना है इसलिए यहां पर को’रो’ना की दू’सरी लह’र बहुत ही ज़्यादा ख’तर’नाक भी सा’बित हुई है। अगर वै’ज्ञानि’कों की सलाह मानी गई होती तो को’रो’ना वा’यर’स की ख’तर’ना’क दू’सरी ल’ह’र को ‘नि’यं’त्रित करना भी आसन होता है।

प्रसि’द्ध साइंस जनर’ल नेचर मे रिपो’र्ट आई है कि भा’रत और ‘ब्रा’जील की सर’का’र ने साइंटि’स्ट की सला’ह न मान’कर को’रो’ना नियं’त्रण का एक अ’च्छा मौ’का भी खो दिया है।पिछले हफ्ते ही कोरोना की वजह से 4 लाख से भी ज्यादा लो’ग संक्र’मित भी हुए है। वही 4 हजार से भी ज्या’दा लो’गो की मौ’त हो गई है।

india ignored scientists advice

उन्होंने ऑ’क्सीजन, वे’न्टीले’टर्स और आ’ईसीयू बे’ड्स अन्य जरूरी वस्तु’ओं की भी स’प्लाई की है। नेचर जन”रल के मुताबिक, भारत और ब्राजील दोनों 15 हजार किलो’मीटर दूर है। लेकिन दोनों में को’रो’ना की स’मस्या बहुत ही ज्यादा है। बता दे कि ब्राजी’ल के राष्ट्र’पति जा’यर बोल’सोनारो ने

लगायर कोविड 19 को छोटा फ्लू कहक’र भी बुलाया है। उन्होंने वैज्ञा’नि’कों की सला’ह को भी दरकिनारे कर दिया है। इसकेसाथ ही उनके द्वारा बताए गए त’रीको को भी न’ही मा’ना है।वैज्ञा’नि’कों की सला’ह को दर’कि’नार करके ब्रा’जील और भार’त की

india ignored scientists advice

सर’कार ने लोगो का जी’वम ब’चाने का सु’नहरा मौ’का खो दिया है। अगर पहले इस बा’त को मा’न लेते तो शा’यद इतने ह’जारों लो’गों की मौ’त न’ही होती।को’रो’ना की वजह से हर देश मे हर श’हर में लो’क डा’उन लगा हुआ है।

Leave a Comment