स्वर्ण पदक जीतकर जाबिर ने रचा इतिहास, टोक्यो ओलम्पिक के लिए किया क़्वालीफाई, बने पहले भारतीय पुरुष एथलीट

भार’तीय नोसे’ना के अनु’भवी खि’लाड़ी में शुमार एमपी जबीर ने इति’हा’स र’च दिया है। उन्होंने पटियाला में हाल ही में हुई इंटर स्टेट राष्ट्री’य एथले’टिक्स चैम्पि’यन शि’प में 400 मीटर बा’धा दौ’ड़ में स्व’र्ण प’दक भी जीत’कर टो’क्यो ओ’लंपि’क के लिए क्वलिफाई भी कर लिया है। जबीर ने विश्व रैं’किंग के जरिये टो’क्यो का टिक’ट भी क’रा’या जिसमे 14 कोटा उपलब्ध थे।

इस बात की जा’नका’री र’क्षा मंत्रा’लय ने ‘प्रवक्ता ने दी है। उन्होंने आगे बताया है कि केरल के 23 वर्षोय ज’बीर वि’श्व ए’थले’टि’कज़ की रॉ’ड टू टो’क्यो रैं’किंग में 34 वे स्था’न पर आए है। जबी’र ओलंपिक में 400 मीटर बा’धा दौ’ड़ में भा’ग लेने वाले पह’ले भर’तीय पु’रुष भी होंगे।

indian navy sailor mp jabir

बता दे कि इससे पहले पी टी उषा 1984 लॉ’स एंजि’लिस ओलं’पिक में 400 मीटर बा’धा दौड़ में यह कांस्य पदक सभी चूक गई थी। जबीर ने अंतराष्ट्रीय एथेलिटिक्स चैंपियनशिप में 49.78 सेकंड का सम’य लेते हुए इस बा’धा दौ’ड़ में स’वर्ण पद’क भी जीता है।25 वर्षीय नोसेना का ना’विक के’रल के मल्लपुरम

का रहने भी वाला है। जबीर ने भा’रतीय नोसे’ना और सेवा’ओं का प्रतिनि;धित्व करते हुए कई रा’स्ट्रॉय और अंत’रा’स्ट्रीय एथले’टिक चे’म्पिय’नशिप में हिस्सा भी लिया है। उन्होंने कई पुर’स्कार भी जीते है।

indian navy sailor mp jabir

इससे पहले कोविड 19 की वजह से टूर्ना’मनेट को स्थ’गित भी कर दिया गया था। जब साल 2019 में ज’बीर की आख’री दौड़ थी। उंसके बाद यह उनकी दौड़ थी।जिसको उनको प्र’सिद्ध भी मिली है।

Leave a Comment