फीस जमा करने पिता ने बेच दी थी जमीन, बेटे नुरुल हसन ने IPS बन नाम रोशन कर दिया

मु’श्किलों के घेरे में रहकर सफलता की बु’लंदियों को छूना ही कामयाबी एक न एक दिन जरूर मिल ही जाती है। इंसान की जिंदगी में प’रेशा’नी ज्यादा आती है। अगर आप मेहनत करने में कुछ भी कर सकते है तो कामयाबी जरूर मिलती है। ठीक इसी तरह IPS नुरून हसन की कहानी भी ऐसी है।

महारष्ट्र कैडर के आईपीएस अधिकारी, नुरुल ने एक साल में BARC में वैज्ञानिक के रूप में काम भी किया था। हसन यूपी जिले के पीलीभीत केरहने वाले है।नुरुल हसन ने ऐसे सभी उम्मीदवारी और युवाओ के लिए प्रेरणा बन गए है जो देश की टॉप नोकरी को पाने के लिए सपना देखते है। हसन ने साल 2009 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से बी टेक किया।

ips nurul hasan wikipedia

यही जगह थी जब उन्होंव खुद को विकसित करके सोविल सेवा ओर कोप्रेट जगत के लिए अपने को कुशल भी बनाया। जिस कोर्स के दौरान उन्होंने आर्थिक तंगी को देखा उसे पूरा करने के लिए गुरुग्राम स्थित कम्पनी में पहली नोकरी मिली। इसके बाद BhobhaResearch Center में ग्रेड A अधिकारी के रूप में जॉइन भी किया।

उन्होमे 1 साल पूरा होने के बाद वो अपनी पेशेव’र उ’न्नति से बि’ल्कुल भी खु’श नही थे। उन्होंने तैयारी को शूरु कर दियाउन्होंने साल2012में तैया’री सिविल सेवा की शुरू की। उन्होंने जब का’मयाबी हा’थ न’ही ल’गी फिर भी उन्हों’ने हा’र नहीं मानी। साल 2015 में वापस इस परी’क्षा को दिया उन्होंने 625 रैंक हासिल हुई।

ips nurul hasan wikipedia

सिविल सेवा की तैयारी कर रहे उम्मीदवरों से नुरुल हसन ने कहा है कि कभी भी असफलताओं से नही डरे। यह परीक्षा आत्मविश्वास की परीक्षा ह। इसलिए असफल होने पर लगाएर कोशिश करते रहे और अपनी पढ़ाई को जारी ररखें।

Leave a Comment