बॉलीवुड नहीं कर पाएगां एक्टर इरफान खान की भरपाई, आस्कर विजेता रहमान ने कहा- पवित्र रमज़ान महिनें में ….

इरफान खान भारतीय लेकिन अंतराष्ट्रीय अभिनेता थे, इरफान के इस दुनिया से जाने के बाद तरह तरह की चीजें सामने आ रही है । बताते चले इरफान की एक्टिंग का डंका देश में ही बल्कि विदेशों में भी बजता था । इरफान खान को बॉलीवुड का दिल कहा जाता था , जो अपने अदभुत अभिनय से सबका दिल जीत लेता था । इरफान के जाने के बाद कई बॉलीवुड हस्तियों ने भी मानां है कि वो अपने अभिनय से सबको हैरान कर देते थे ।

बता डेज़ उन्हें तीन बार फ़िल्म फेयर पुरुस्कार और सरीक्षेष्ठ अभिनेता के तौर पर फ़िल्म पान सिंह तोमर के लिए राष्ट्रीय पुरुस्काए भी मिल चुका है।इ’रफान खान को कैंसर की बीमारी थी इसके चलते हुए वो विदेश भी गए थे,लेकिन वो इससे जंग नही जीत सके । 29 अप्रैल 2020 को इरफान ने पूरी दुनिया को अलविदा कह दिया।

इनके नि’धन के एक दिन बाद ऋषि कपूर का भी निधन ही गया था। इन दोनों हस्तियों के निधन के असर फिल्मी जगत में बहुत गहरा पड़ा है।इसी बीच एआर रहमा’न ने इन दोनों के निधन पर दुःख जताते हुए कहा कि वो दोनो को अपना अंतिम सम्मान नही दे पाए।कोरोना की वजह से देशभर में लोक डाउन है । इसी लिए प्रशसन ने कम ही लोगो को अंतिम विदाई देने की लिए इजाजत कम ही लोगो को दी थी।

आइए एन एस से बातचीत के दौरान रह’मान ने बताया ये बहुत ही बुरी बात है कि इस वक्त कोई भी व्यक्ति किसी की अंतिम यात्रा में नही जा सकता। उन्होंने दुनिया को बहुत कुछ दिया है।रहमान ने आगे कहा कि ये रम’जान के पवित्र महीना है इसलिए कहा जा सकता है कि उन दोनों को आशीर्वाद मिला है। इरफान का मुम्बई के कोकिलाबेन धीरूभाई अम्बानी अस्पताल में निधन हो गया था।

एक दिन बाद शहर के एचएन रिला’यंस फाउंडेशन अस्पताल में ल्यूकी’मियासे जूझ रहे ऋषि कपूर का निधन हो गया था। वह 67 साल के थे। ऋषि कपूर आखरी बार तापसी तन्नू के साथफ़ि’ल्म मुल्क में नजर आए थे।को’विड 19 के खिलाफ देश की लड़ाई में रहमान ने गीतकार प्रसून जोशी के साथ मिलकर गाना दिया है जिसका नाम हम हा’र न’ही मारेंगे। यह गाना एचडीएफसी बैंक द्वारा जारी किया गया था।

Leave a Comment

close