इरफान खान ने अपने दोस्त हैदर अली की बचाई थी जान, राजस्थान के IPS अली ने सुनाई अनसूनी दास्ता, जानिए

दुनिया में ऐसे बहुत कम कलाकार होते है जिनके इस दुनिया से जाने के बाद उस देश में रहने वाले उनके प्रशंसक ही नही बल्कि विदेशी से’लेब्रेटी से लेकर अंतराष्ट्रीय मीडिया भी उनकी याद में बड़ी कवरेज करती हुई नज़र आती है । हम बात कर रहे है भारतीय कलाकार इरफान खान की,जो जयपुर राजस्थान में जन्में और टोंक में बचपन बीता । इरफान खान बॉलीवुड के दिल कहे जाते है । अब बस इरफान से जुड़ी यादे है.

इरफान खान का पवित्र माह र’मज़ान में इन्ते’क़ाल की खबर आई तो हैरान करने वाली थी, किंग शाहरुख खान ने तो यहाँ तक कह दिया इरफान दिन तो तुम्हारे अब आने वाले थे , बहुत जल्दी चले गए ।बॉलीवुड एक्टर इरफान खान का बीते दिनों ही निधन हो गया था। वो मुम्बई के कोकिलाबेन अ’स्पताल में भर्ती थे। इरफान के निधन के बाद पूरे फ़िल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर दौड़ पड़ी।सोशल मीडिया पर इरफान खान से जुड़ी एक खबर वा’यरल हो रही है, आइये जानते है ।

इरफान खान ने राजस्थान के IPS हैदर अली की जान बचाई थी। IPS अधिकारी ने बताया है कि इरफान उनके एक जिगरी दोस्त थे। उन्होंने कहा कि मैं वो दिन कभी भूल नही सकता जब उन्हीने मेरी जा’न बचा’ई थी।बता दे कि हैदर अली वर्तमान में भरतपुर में एसपी के रूप में कार्यरत है। इरफान खान और हैदर अली दोनो बचपन के दोस्त थे। दोनो ने स्कूल और कॉलेज के पढ़ाई साथ मे की थी।

इरफान खान के निधन की खबर सुनते ही हैदर का दिल टू’ट गया।इरफान के साथ बिताए दिनों को याद करते हुए भरतपुर एसपी हैदर अली जैदी का कहना है कि हालांकि मेरे दोस्त इस जहाँ से रुख’सत हो गए , ऐसा लगता है कि मानो इरफान का अभी फोन आएगा। हम बहुतसारी बातें करेंगे। मिलने का प्लान बनाएंगे। बचपन की यादों को ताजा करेंगे।

इरफान को कैं’सर की बीमा’री थी वो अपनी बी’मारी का इलाज करवाने के लिए इंग्लैंड गए थे।हैदर अली जैदी उनके इतने खास मित्र थे कि वो इंग्लैंड मिलने पहुँच गए थे। जैदी को इस बात का मलाल है कि इस बार इरफान बीमार हुए तो वे लोक डाउन की वजह से उनसे मिलने मुम्बई तक नही जा सके। उनके परिवारवालों और इरफान के भाइयो से फोन पर उनके हालात पूछते रहे।

एसपी हैदर अली ने एक वाकये के जरिए अपनी यादों को ताजा करते हुए कहा कि मैंने जयपुर से इकोनॉमिक्स में एमए किया था और इरफान ने उर्दू विषय से एमए किया था। उन्होंने आगे बताया कि एक बार जब हम कॉलेज में थे तब रास्ते मे मुझे करंट लग गया था। मुझे म’र’ता देख दूसरे दोस्त वहां से भा’ग गए थे। मुझे बचाने के लिए खु’द जा’न जो’खिम मे डालने वाला शख्स कोई और नही बल्कि मेरा जिगरीदोस्त इरफान खान था।इरफान को प’तंग उड़ाने का बहुत शौक था। इरफान के नि’धन से 3 दिन पहले उनकी माँ का भी नि’ध’न हो गया था।

Leave a Comment

close