कांग्रेस के गढ़ में भाजपा को हुआ बड़ा नुकसान, 52 सीटों में से 12 पर …

उत्तरप्रदेश पंचायत चुनाव में तमाम दिग्गज नेता अपना दुर्ग बचाए रखने में सफल नहीं हुए है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी कि संसदीय क्षेत्र रायबरेली में हुए जिला पंचायत चुनाव में अपना बीजे’पी अ’सर न’हीं दिखा सकी है। वही सपा और कां’ग्रेस पार्टी का अपना दबदबा रहा है।

हालंकि सपा बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। ऐसे में अब सवाल यह है कि जिला पंचायत कुर्सी पर कोन काबिज होगा।बता दे कि रायबरेली मे 52 जिला पंचायत सदस्य पदो के लिए 708 प्रत्याशी अपनी किस्मत को आजमा रहे है। इन 52 सीटों के लिए सबसे ज्यादा 12 सीट समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जीते है।

jila panchayat chunav up 2021

कांग्रेस 2 नंबर पर काबिज हुई है। कांग्रेस के 9 जिला पंचायत सदस्य ने जीत को हासिल किया है। बीजेपी रायबरेली में सिर्फ 8 सीट ही दर्ज कर चुकी है। जबकि पार्टी ने सभी 52 जिला पंचायत सीट पर अपने प्रत्याशी को भी उतारा था।

जिले में सपा, बसपा और बसपा से भी ज्यादा 23 निर्दलीय केंडिडेट जीते है। एक तरफ से यह साफ है कि जिला अध्यक्ष कि कुर्सी पर कोन काबिज होगा जिसे निर्दलीय समर्थन करेंगे।बताते चले कि कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी मे शामिल होने वाली एम एलसी दिनेश प्रताप सिंह कि अनुज वधू सुमन जिला पंचायत का चुनाव हार गई है।

jila panchayat chunav up 2021

हरचंदपुर तृतीय से पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष और बीजेपी प्रत्याशी सुमन सिंह को सपा कि शिवदेवी ने हराया है। पंचायत अध्यक्ष कि कुर्सी पर 10 सालो से दिनेश प्रताप सिंह का कब्जा रहा है। जिले कि यह सीट अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित भी है।

Leave a Comment