“फिलिस्तीन के साथ है और हमेशा रहेगे”कुवैत ने ये कहकर दिया UAE को बड़ा झटका, कुवैत बना पहला अरब देश जिसने …

इज’राइ’ल और यूए’ई के बीच अपने आपसी स’म्बन्धी को सामान्य बनने के लिए एक समझौता किया गया है। इसके साथ ही इजराइल ने वेस्ट बैंक में अपने क’ब्जे वाले हिस्सो की वि’वाद’स्पद योजनाओं’ को निलं’बि’त करने पर स’हमति जाहिर भी की है। इन दोनों देशों के समझौता होने के बाद देश से अलग अलग प्रतिक्रिया आ रही है।

कुवैत के अखबार अल कबास की रिपोर्ट के मुताबिक, यूएई के समझौते के बाद कुवैत ने यूएई को झ’ट’का दिया है और कहा है कि हम फिलि’स्ति’नी के साथ है और हमेशा ही रहेंगे।मिस्र और जॉर्डन के बाद एक यूएई एक तीसरा अरब राज्य बन गया है। हालांकि कुवैत के विदेश मंत्रालय के अधिकरी ने इस पर कोई टिप्पणी नही की है।

kuwait UAE news

अल कबास ने कहा है कि कु’वैत की स्थिति फि’लि’स्ति’नी कार’ण के स’म’र्थन में बहुत पुरानी है। क्योकि यह अरब मु’द्दा है। केवल एक समा’धान को ही स्वीकर करता है।फि’लिस्ति’नी लोगो ने भी इजराइ’ल और यूएई के इस समझौते की निं’दा की है। सऊदी अरब और कdर इस बात पर चुप रहे है। इसके अलावा बहरीन और ओमन ने इस समझौते की प्रशंsa की है।

बताया जा रहा है कि ओमान और बहरीन यूएई के नक्शेकदम पर चलते हुए इजराइल के साथ अपने सम्बन्ध को सामान्य कर सकते है। इजराइल के खुफिया मंत्री ने बीते दिनों ही कहा है कि बहरीन और ओमान अगले खड़ी देश हो सकते है। जो इजराइल के साथ यूएई के सम्बन्धो का पालन करेंगे।

kuwait UAE news

बता दे कि बीते दिनों ही तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगान ने इस समझौते पर नारा;ज’गी जाहिर करते हुए कहा है कि यूएई को कभी भी इतिहास माफ नही करेगा क्योकि उसने अपने हितों के लिए इस निर्णय को लीग किया है। कुछ देशो ने इसको स्वीकार किया है तो कुछ देशो ने इसको स्वीकार नही किया है।

इस समझौते के बाद फिलिस्तिनी लोग पाकिस्तान और तुर्की में यूएई के इस समझौते के बाद लोग सड़कों और उतरकर वि’रो’ध दर्ज कर रहे है।बता दे कि हमास जो फिलिस्तिनी जगह पर गाज पट्टी पर निवास करता है उसने भी इस समझौते की निं’दा की है। हमास ने कहा है कि इसे हमारे लोगो मे पीठ में छु’रा घो’प’ना करार दिया गया है ।

Leave a Comment