मदरसों के बच्चों के लिए खुशखबरी, राजस्थान के मदरसों में अब होगी ऑनलाइन पढाई

को’रो’ना म’हा’मा’री के चलते हुए सभी स्कूल ,कॉलेज सभी बन्द है। ऐसे हालातो में बच्चों कि पढ़ाई रुक गई है। सभी हिंदी मीडियम स्कूलों में को’रो’ना वा’इ’रस को देखते हुए ऑन’लाइन पढ़ाई शुरू कर दी है। ऐसे में राजस्थान सरकार ने फैसला किया है कि राजस्थान के मदरसों में भी ऑनलाइन पढ़ाई शुरू कराई जाए । बता दे, इसके निर्देश जारी किए है। दरअसल, लोक डाउन के बाद से ही मदरसों के बच्चे तालीम से दूर है।

कई महीनों बाद भी पढ़ाई सुचारू रूप से नही चालू हो सकी है । लेकिन अब राजस्थान सरकार उनकी भी तालीम का इंतजाम कररही है। हालांकि बच्चे ऑनलाइन क्लासेज नही ले पाएंगे लेकिन मोबाइल के जरिए स्टडी मेटेरियल उन तक पहुँच जाएगा।शिक्षा विभाग के इस्माइल पाठ्यक्रम की तर्ज पर मदरसों में पड़ने वाले बच्चो को भी पठन सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी ताकि उनका पढ़ाई से लगाव न छुटे।

Madrasas to be equipped with smart classes in Rajasthan

म’दरसा बोर्ड की सचिव पूनम प्रसाद सागर ने इस सम्बंद में प्रदेह के सभी 33 जिलों के अल्पसंख्यक अधिकारियों को इस बात के आदेश जारी कर दिए है। वही इस आदेश की कॉपी में सोशल मीडिया यानी व्हाट्सएप ग्रुप बनाने की बात कही है।आदेश में लिखा हुआ है कि कोविड 19 के चलते हुए सभी मदरसे फिलहाल अभी तक तो बन्द है लेकिन आने वाले दिनों में ऑनलाइन क्लासेज शुरू होगी।

इस अवधि में मदरसों के बच्चे को पाठ्यक्रम के अनुसार नियमित रूप से पढ़ाने के लिए शिक्षा विभाग के पाठ्यक्रम की तर्ज पर गठन सामग्री उपलब्धि कराए जाने का निर्णय किया गया है। आदेशानुसार जिले के सभी उच्च प्राथमिक स्तर के मदरसों के मॉडल पैराटीचर का सोशल मीडिया पर ग्रुप बनाया जाएगा।

Madrasas to be equipped with smart classes in Rajasthan

रोजाना शिक्षा विभाग से प्राप्त होने वाली लिंक को इस ग्रुप पर भेज जाएगा। को’रो’ना वा’य’र’स के राजस्थान में एक ही दिन में 711 के’स सामने आए है। राज्य में कुल पॉ’जि’टि’व लोगो की संख्या 28,500 पहुँच गई है। वही देश मे क’रो’ना म’री’जों का आंकड़ा 10 लाख के पार कर गया ।

Leave a Comment

close