CAA का वि’रोध : भारत ने प्र’ति’बन्ध लगाए तो इस मु’स्लिम देश के पीएम बोले- ग’लत को ग’लत बोलेगे

ना’गरिकता सं’शोधन का’नून को लेकर देश में वि’रोध प्रदर्श’न देखने को मिल रहा है । यह वि’रोध प्रद’र्शन अब दुनि’याभर के कई देशों जैसे अमे’रिका , रू’स, जर्म’नी, ई’रान स’ऊदी में मौजूद स्टू’डेंट, भारती’य ‘क’र्मचारी आदि इन देशों में वि’रोध कर रहे है। बता दे कि इस का’नून को लेकर इंड’स्ट्री पर भी असर देखने को मिल रहा है। बीते दिनों क’श्मीर , एनआ’रसी को लेकर मले’शिया के पीएम मोह’म्मद महा’तिर ने एक बयान दिया था ।

उन्होंने भारत के ना’गरिकता का’नून का वि’रोध दर्ज’ कराया था तो वही क’श्मी’र मु’द्दे पर भी उन्होंने ऊनी रे रखी थी । बता दे, मलेशिया दुनिया भर में रिफाइंड पाम तेल का सबसे बड़ा मार्किट है । बता दे, मलेशिया ही भारत को सबसे ज्यादा तेल भेजता है। लेकिन बीते सप्ताह से मलेशिया से भारत आने वाला पॉम तेल आयातकों ने मलेशिया से आयात करना बं द कर दिया है। क्योंकि भारत और मलेशिया के बीच रिश्तों में ख टास आ रही है।

इसके चलते यह कार्यवाही की गई हैं। मलेशिया के प्रधानमंत्री मो’हम्मद महातिर ने बीते कुछ समय से भारत के खिलाफ सख्त रुख अपनाए हुए हैं। इसका असर दोनो देशो के सम्बन्धो पर भी पड़ा हैं। दरअसल भारत ने मलेशिया से पॉम ऑयल आयात पर प्र’ति’बंध लगा दिया था। भारत द्वारा पाम ऑयल के आयात पर प्र’ति’बं’ध लगाने के बाद मलेशिया के प्रधानमंत्री ने कहा है कि वह ग’ल’त चीजो को लेकर ऐसे ही बोलते रहेंगे।

फिर चाहे उनके देश को आ’र्थिक तौर पर नुक’सान ही उ’ठाना पड़े। मलेशिया के प्रधानमंत्री ने भारत सरकार द्वारा क’श्मी’र औऱ भारत मे ना’गरिकता सं’शोधन का’नून की आ’लोच’ना की हैं। बता दे कि भारत सालाना तौर पर करीब 90 लाख टन पॉम तेल आयात करता है। प्रमुख तौर पर भारत , इंडोनेशिया और मलेशिया से पाम तेल आयात करता हैं।

हालांकि, मलेशिया स’रकार की चेतावनी के बाद भारतीय पॉम तेल आयातक इंडोनेशिया से 10 डॉलर प्रति टन की प्रीमियम दर पर पॉम तेल का आयात कर रहा हैं। आपको बता दे, मलेशिया के पीएम का नाग’रिकता का’नून पर यह दूसरी बार बयान आया है । इस बार उन्होंने खुलकर कहा कि वो गल’त चीज़ो का हमेशा बहि’ष्कार करते रहेंगे ।

अगर वो गल’त ची’ज़ो को सही बताने लगे जायेगे सिर्फ बिज़’निस के लिए तो यह बहुत गल’त हो जाएगा । हम सही हो सही और ग’लत को ग’लत कहेंगे ताकि हम आगे कोई ग’लती नही करे । उन्होंने कहा कि अगर आप गल’त ची’ज़ो का साथ दोगे तो फिर आगे बहुत ग’लत हो जाएगा । उन्होंने साफ किया कि वह नु’कसान को भुग’तने को तैयार है लेकिन ग’लत को सही नही कहेंगे ।

Leave a Comment

close